बरेली हवाई अड्डा अगले महीने बनकर होगा तैयार, दिल्ली और लखनऊ से मिलेगी फ्लाइट


लखनऊ। केंद्र सरकार के रीजनल कनेक्टिविटी योजना आरसीएस-उड़ान के अंतर्गत यूपी का बरेली हवाई अड्डा अगले महीने तक बन कर तैयार हो जाएगा। यह हवाई अड्डा तैयार हो जाने के बाद बरेली उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और देश की राजधानी दिल्ली से हवाई मार्ग से सीधे जुड़ जाएगी। हालांकि इस एयरपोर्ट की बिल्डिंग का उद्घाटन 10 मार्च 2019 को ही हो चुका है। बरेली उत्तर प्रदेश का आठवां सबसे बड़ा महानगर और भारत का 50 वां सबसे बड़ा शहर है। बरेली भारत में पीएम नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी 100 स्मार्ट सिटी सूची में भी शामिल है। यह रामगंगा नदी पर स्थित है। नहर सिंचाई के लिए इसी शहर के पास रामगंगा बैराज बनाया गया है। यह शहर कपास, अनाज और चीनी के कारोबार के लिए प्रसिद्ध है। साथ ही यह लकड़ी के फर्नीचर बनाने के लिए एक विकसित केंद्र है। बरेली हवाई अड्डे के परिचालन के साथ, हवाई संपर्क के लिए क्षेत्र के व्यापारी वर्ग की मांग पूरी हो जाएगी।
बरेली हवाई अड्डा भारतीय वायु सेना (आईएएफ) से संबंधित है। वहां एटीआर 72 प्रकार के विमानों का संचालन हो सके, इसके लिए एएआई वहां ढांचागत संरचना का निर्माण कर रहा है। वहां बन रहे सिविल एन्क्लेव में एटीआर विमानों की पार्किंग के लिए एप्रन बनाया जा रहा है। साथ ही 525 वर्गमीटर के अंतरिम टर्मिनल भवन भी विकसित किया है। अंतरिम टर्मिनल बिल्डिंग का उपयोग आरसीएस संचालन शुरू करने के लिए किया जाएगा।
केंद्र सरकार की उड़ान योजना के तहत बीते 27 अगस्त जिन 78 मार्गों की घोषणा की थी, उनमें बरेली से दिल्ली और दिल्ली से बरेली का मार्ग भी शामिल है। इससे पहले वर्ष 2019 के मार्च में घोषणा हुई थी कि दिल्ली से एक फ्लाइट बरेली जाएगी। वहां से फिर वही फ्लाइट लखनऊ चली जाएगी। वापसी में यह फिर बरेली में उतरेगी और वहां से उड़ान भर कर दिल्ली वापस लौट जाएगी। अब एएआई ने उम्मीद जताई है कि बरेली से लखनऊ तक दिसंबर 2020 तक शुरू हो सकती है। बरेली एयरपोर्ट पर एएआई इस तरह की सुविधा विकसित कर रहा है, ताकि एम समय में दो एटीआर 72 किस्म के विमानों के संचालन हो सके। इसके लिए एप्रन और टैक्सी ट्रैक का निर्माण किया जा रहा है। इन कार्यों की कुल लागत लगभग 70 करोड़ रुपये है। वहां जो टर्मिनल बिल्डिंग बनाया जा रहा है, वह पीक ऑवर्स के दौरान 150 यात्रियों (75 आगमन और 75 प्रस्थान) को संभालने में सक्षम होगा। एयरपोर्ट पर छह चेक-इन काउंटर होंगे। एयरपोर्ट में 90 कारों के लिए कार पार्किंग की सुविधा भी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *