लड़को को जन्म देने वाली महिलाओं से हो सकती है पूछताछ

 विशेष प्रतिनिधि 

नई दिल्ली।दिल्ली के करोल बाग और कीर्ति नगर में चल रहे आईवीएफ सेंटर में बेटा पैदा कराने की गारंटी देकर मोटी रकम ऐंठने के मामले में करोल बाग एसडीएम की शिकायत पर आईपीसी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है। आईवीएफ सेंटर का मालिक आईआईटी इंजीनियर विकास कामत को गिरफ्तार करने में पुलिस नाकाम रही है। अब तक पुलिस ने कॉल सेंटर से १०० लैपटॉप, १३ मोबाइल व भारी मात्रा में अन्य सामान बरामद किया है। कंप्यूटर की हार्डडिस्क से बेटे की चाह में कॉल करने वाली महिलाओं की बातचीत की रिकॉर्डिंग मिला है। मध्य जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आशंका है कि बेटे की चाह में करीब ६ लाख महिलाओं ने सेंटर से संपर्क किया था। पुलिस फिलहाल उन महिलाओं का पता लगा रही है, जिन्होंने आईवीएफ सेंटर की मदद से बेटा पैदा किया है। जल्द ही इनसे भी पूछताछ की जा सकती है। जरूरत पड़ी तो इन महिलाओं को सरकारी गवाह भी बनाया जा सकता है। एक अधिकारी ने बताया कि जो भी महिला कॉल सेंटर में संपर्क करती थी, उसे बेटा पैदा कराने के लिए नौ लाख रुपये का पैकेज बताया जाता था। बेटा पैदा कराने के लिए महिलाओं को १० से १२ दिन के लिए विदेश भी भेजा जाता था। यह सब पैकेज का हिस्सा था। कीर्ति नगर में आईवीएफ सेंटर था, जबकि करोल बाग में आईवीएफ सेंटर के साथ-साथ कॉल सेंटर भी था। यहां १५० कर्मचारी थे। जांच में पता चला है कि कीर्ति नगर और करोल बाग के सेंटर एक-दूसरे से जुड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *