माओवादी हमले में शहीद जवानो को मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि

मुख्यमंत्री ने शोक जताया कहा- नक्सली आखिरी लड़ाई लड़ रहे हैं   

विशेष संवाददाता 

रांची। झारखंड में रांची जिले के दशम फॉल के जंगल में शुक्रवार सुबह चार बजे सुरक्षा बलों और प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा-माओवादियों के बीच मुठभेड़ में दो जवान शाहीद हो गये।पुलिस महानिदेशक केएन चौबे ने मुख्यमंत्री रघुवर दास से मुलाकात कर पूरे मामले की जानकारी दी है।सीआरपीएफ के आईजी संजय आनंद लाठकर ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि माओवादियों का एक दस्ते के दशम फॉल थाना क्षेत्र के डाकापीढ़ी जंगल और आसपास के इलाके में सक्रिय है। इस सूचना पर झारखंड जगुआर की टीम को इलाके में ऑपरेशन के लिए भेजा गया। लेकिन रास्ते में ही सुरक्षाबलों को देखकर नक्सलियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। सुबह करीब चार बजे से पांच बजे तक पुलिस और नक्सलियों के बीच चली मुठभेड़ में झारखंड जगुआर के जवान खंजन कुमार महतो की मौके पर ही मौत हो गयी। वहीं गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल जवान अखिलेश राम को मेडिका अस्पताल में भर्त्ती कराया गया, अस्पताल में इलाज के क्रम में उनकी मौत हो गयी।
शहीद जवान अखिलेश राम पलामू जिले के लेस्लीगंज के रहने वाले थे, जबकि खंजन कुमार महतो रांची जिले के सोनाहातु थाना क्षेत्र के रहने वाले थे। अखिलेश राम को तीन गोली लगने के बाद अस्पताल लाया गया था,जहां इलाज के क्रम में उनकी मौत हो गयी।
घटना के बाद से इलाके में वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता समेत वरीय अधिकारी कैंप कर रहे है। इलाके में बड़े स्तर पर सर्च ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है और इस अभियान में रांची के अलावा खूंटी और सरायकेला-खरसावां जिले की पुलिस को भी लगाया गया है।
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में शहीद जवानों के प्रति शोक जताते हुए कहा कि नक्सली झारखंड में आखिरी लड़ाई लड़ रहे है। उन्होंने कहा कि सरकार नक्सलियों के प्रति कोई नरमी नहीं बरतेगी। जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार शहीद जवानों के परिजनों के साथ हमेशा खड़ी रहेगी। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने भी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *