Mon. May 17th, 2021

चामराजनगर। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों ने देशभर में ऑक्सीजन की किल्लत बढ़ा दी है। केंद्र सरकार लगातार राज्यों की मदद में लगी हुई है लेकिन पर्याप्त ऑक्सीजन पहुंचाने में असमर्थ साबित हो रही है। राजस्थान के मुख्यमंत्री ने भी राज्य में ऑक्सीजन की कमी को लेकर केंद्र से अपनी चिंता व्यक्त की है। गहलोत ने कहा है हालात भयावह होते जा रहे हैं और ऑक्सीजन की मांग इतनी हो गई है कि हम केंद्र से इसकी भीख मांग रहे हैं। मैंने गृहमंत्री अमित शाह से बात की है शाह ने कहा कि सोमवार को ही हमें 5 टैंकर अलॉट कर रहे हैं। एनएसए अजीत डोभाल, पीएम के प्रमुख सचिव मिस्टर मिश्र तक किसी को नहीं छोड़ा सबसे ऑक्सीजन और दवाओं के लिए बात की गई है। इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि 5 ऑक्सीजन टैंकरो के लिए देश में गृहमंत्री से बात करनी पड़ रही है। मुख्यमंत्री ने कहा, ”केंद्र सरकार से मेरी अपील है कि कृपया स्थिति की गंभीरता को समझें, देशभर में कहीं भी ऐसे हालात ना बनने दें कि एक भी व्यक्ति की जान ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी या व्यवस्था के स्तर पर प्रबंध ना होने के कारण जाए।मुख्यमंत्री ने कहा कि हम राज्य में ऑक्सीजन और दवाओं को राज्य में उपलब्ध कराने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। गहलोत ने कहा, ”मैं राजस्थान को लेकर भी केंद्र सरकार से लगातार आग्रह कर रहा हूँ कि राज्य में संक्रमितों की संख्या के अनुपात में ऑक्सीजन की कमी है। हम पुन: केन्द्र से निवेदन करते हैं कि राजस्थान की सहायता करें ताकि किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति ना बने, हमारे लिए एक-एक व्यक्ति की जान कीमती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार संकट की इस घड़ी में प्रदेशवासियों के लिए ऑक्सीजन एवं दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने का हरसंभव प्रयास कर रही है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कर्नाटक के चामराजनगर जिला अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई 24 कोविड मरीजों की मौत पर दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। गहलोत ने एक बयान में कहा कि कर्नाटक के अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के कारण 24 कोविड मरीजों की मृत्यु की सूचना बेहद दुखद है। इस अत्यंत कठिन समय में ईश्वर उन्हें यह आघात सहने का सम्बल प्रदान करें। उन्होंने कहा कि देश के कई हिस्सों से ऑक्सीजन की कमी को लेकर लोगों के मरने की हृदयविदारक ख़बरें आ रही हैं, ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी बेहद व्यथित करने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *