Sun. Feb 27th, 2022

लखनऊ। संवाददाता

लखीमपुर हिंसा के सातवें दिन मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष को अंततः 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।
हत्या, दुर्घटना में मौत, आपराधिक साजिश और लापरवाही से वाहन चलाने की धाराओं में उसकी गिरफ्तारी हुई है। मजिस्ट्रेट के सामने कलमबंद बयान दर्ज किए गए हैं।
पूछताछ के दौरान क्राइम ब्रांच के दफ्तर में आशीष मिश्रा के साथ उनके वकील अवधेश सिंह और मंत्री अजय मिश्र टेनी के प्रतिनिधि अरविंद सिंह संजय और भाजपा के सदर विधायक योगेश वर्मा भी अंदर मौजूद रहे।
पूछताछ में 10 एफिडेविट और एक पेन ड्राइव के साथ दो मोबाइल पेश किए गए। जिनसे एसआईटी संतुष्ट नहीं थी। बताया जा रहा है कि 13 वीडियो एसआईटी को दिए गए, जिसकी जांच फॉरेंसिक एक्सपर्ट करेंगे।
आशीष से 6 लोगों की टीम ने पूछताछ की है। लखीमपुर में क्राइम ब्रांच के दफ्तर में आशीष मिश्रा से मजिस्ट्रेट के सामने सवाल-जवाब किये गए। पूछताछ में डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल और लखीमपुर के एसडीएम शामिल थे।
आशीष मिश्रा ने अपने पक्ष में कई वीडियो पेश किए। उन्होंने 10 लोगों के बयान का हलफनामा भी पेश किया, जो बताते हैं कि वो काफिले के साथ नहीं था, दंगल मैदान में था। गिरफ्तारी के बाद उसे जेल भेजा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *