सिर्फ 50% पाकिस्तानी महिलाओं के पास खुद का फोन, 19% इस्तेमाल करती हैं इंटरनेट

एजेंसी

इस्‍लामाबाद. हाल में 15 देशों में किए गए सर्वेक्षण में यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है क‍ि मोबाइल फोन रखने वाले पुरुषों और महिलाओं की संख्या में सबसे बड़ा अंतर पाकिस्तान में सामने आया है. ‘डॉन’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया भर में मोबाइल ऑपरेटर्स के हितों का ख्‍याल रखने वाली संस्‍था सीएसएमए की ओर से जारी की गई रिपोर्ट में यह बात सामने आई है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि मोबाइल फोन और इंटरनेट इस्‍तेमाल करने वाले पुरुषों और महिलाओं की तादाद में सबसे ज्‍यादा अंतर पाकिस्‍तान में है. वहीं इस रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि पाकिस्‍तान में मोबाइल फोन के स्‍वामित्‍व के संबंध में लैंगिक असमानता 38 फीसदी है. यानी करीब 81 फीसदी पाकिस्तानी पुरुषों की तुलना में केवल 50 फीसदी महिलाओं के पास ही मोबाइल फोन हैं. इसी तरह पाकिस्‍तान में इंटरनेट इस्‍तेमाल करने वालों का अंतर 49 फीसदी है यानी 37 फीसदी पाकिस्‍तानी पुरुषों के मुकाबले में सिर्फ 19 फीसदी महिलाएं ही अपने मोबाइल पर इंटरनेट इस्‍तेमाल करती हैं.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि मोबाइल फोन के स्वामित्व में सबसे बड़ी बाधा इसे खरीदने में सक्षम होने की है. इसके अलावा महिलाओं में जागरूकता की कमी, उनमें निरक्षरता और डिजिटल की कम जानकारी का होना भी है. यही वजह है कि महिलाएं मोबाइल फोन और इंटरनेट का इस्‍तेमाल कम कर पाती हैं.

‘मोबाइल जेंडर गैप रिपोर्ट 2020’ शीर्षक के नाम से जारी यह रिपोर्ट जीएसएमए के सालाना इंटेलीजेंस कंज्‍यूमर सर्वेक्षण मध्यम और कम आय वाले 15 देशों के आधार पर तैयार की गई है. यह सर्वे 18 साल या इससे ज्‍यादा उम्र के लोगों पर आधारित है. इसके मुताबिक मोबाइल फोन का मालिक उस व्‍यक्ति को समझा जाता है, जो सिम कार्ड या ऐसे मोबाइल फोन जिनमें सिम कार्ड की जरूरत नहीं होती, उसका कम से कम एक महीने तक यूजर रहा हो.

कम हुई असमानता लेकिन अब भी 38% से ज्यादा
हालांकि रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कम आय वाले देशों में मोबाइल इंटरनेट का उपयोग करने में महिलाओं और पुरुषों के बीच असमानता कम हुई है. 2017 में जहां 44 फीसदी महिलाएं मोबाइल इंटरनेट का उपयोग करती थीं, वहीं अब 54 फीसदी महिलाएं इसका उपयोग करती हैं. इसके अलावा पाकिस्‍तान में 55 फीसदी पुरुषों और 53 फीसदी महिलाओं का मानना है कि मोबाइल फोन की वजह से उन्‍हें उपयोगी जानकारी मिलती है, जो अन्‍य किसी तरह नहीं मिल सकती. वहीं 58 फीसदी महिला मोबाइल यूजर के मुताबिक उनके रोजमर्रा के कामों में मोबाइल मद्द देता है.

भारत में 63 फीसदी महिलाएं मर्जी का मोबाइल खरीदती हैं इसके अलावा पाकिस्‍तान में स्‍मार्ट फोन के इस्‍तेमाल करने की दर जहां पुरुषों में 37 फीसदी है वहीं महिलाओं में यह दर 20 फीसदी है. इसमें 90 फीसदी पुरुषों की तुलना में 42 फीसदी महिलाओं के अपने खुद के मोबाइल फोन हैं. वहीं भारत में 90 फीसदी पुरुषों की तुलना में 63 फीसदी महिलाएं अपनी मर्जी का मोबाइल फोन खरीदती हैं. सबसे कम अंतर इंडोनेशिया में है, जहां 91 फीसदी पुरुषों के मुकाबले में 86 फीसदी महिलाओं के अपने निजी मोबाइल फोन हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *