Fri. Apr 23rd, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली । रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के फ्रांस जाने और देश के पहले राफेल फाइटर जेट की शस्त्र पूजा करने पर कांग्रेस की आपत्ति पर पलटवार करते हुए भाजपा ने कांग्रेस को ‘क्वात्रोची की पूजा करने’ वाला बताया है। बजपा का कहना है कि कांग्रेस को ‘शस्त्र पूजा’ से दिक्कत स्वाभाविक है। बोफोर्स घोटाले के आरोपी क्वात्रोची पर दलाली के जरिए घूस खाने का आरोप था। राफेल की ‘शस्त्र पूजा’ को तमाशा बताने संबंधी कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के बयान को बीजेपी ने ऑफिशल ट्विटर हैंडल से रीट्वीट करते हुए कांग्रेस को वायुसेना को आधुनिक बनाए जाने का भी विरोधी बताया। बीजेपी ने ट्वीट किया, ‘कांग्रेस को एयर फोर्स के आधुनिकीकरण से दिक्कत है। उसे भारतीय रीति-रिवाजों और परंपराओं से दिक्कत है। एक ऐसी पार्टी जो क्वात्रोची की पूजा करती रही है, उसे ‘शस्त्र पूजा’ से दिक्कत होना स्वाभाविक है। और खड़गे जी, हमें बोफोर्स घोटाले की याद दिलाने के लिए शुक्रिया।’
दरअसल खड़गे ने रक्षा मंत्री के राफेल रिसीव करने के लिए फ्रांस जाने और दशहरे के मौके पर वहां राफेल की ‘शस्त्र पूजा’ करने को तमाशा बताया था। उन्होंने कहा था, ‘इस तरह के ‘तमाशे’ की कोई जरूरत नहीं थी। जब हमने बोफोर्स तोप जैसे हथियारों को खरीदा था तो कोई भी उन्हें लाने के लिए नहीं गया था, कोई तामझाम नहीं हुआ था।’
खड़गे से पहले कांग्रेस के ही एक और नेता संदीप दीक्षित ने भी ‘शस्त्र पूजा’ को नौटंकी बताया था। दीक्षित ने राफेल फाइटर जेट की रिसीविंग को दशहरे से जोड़ने, एयर फोर्स के अफसरों के बजाय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के रिसीव करने पर सवाल उठाते हुए कहा था कि यह सरकार काम तो कुछ नहीं करती लेकिन हर चीज को नाटक बना देती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *