Tue. Mar 2nd, 2021

विशेष संवाददाता

जम्मू । भारत-पाक नियंत्रण सीमा रेखा पर पाकिस्तान की नपाक हरकतें लगातार जारी हैं और वह संघर्ष विराम का उल्लंघन करने से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान की इस गुस्ताखी का भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया है। मुंहतोड़ जवाब देते हुए भारतीय सेना ने तीन पाकिस्तानी सैनिक को मार गिराया है। इसकी पुष्टि खुद पाक सेना ने की है।
पाकिस्तानी रेंजरों ने गुरुवार को पुंछ के सात सेक्टरों बालाकोट, बलनोई, देगवार, खड़ी करमाड़ा, शाहपुर किरनी, कसबा और गोंतरियां सेक्टर में भारी गोलाबारी की। इससे सात घर क्षतिग्रस्त हो गए और महिला समेत दो नागरिक गंभीर रूप से घायल हुए हैं। भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में बालाकोट सेक्टर के उस पार पाक सेना की पांच चौकियां पूरी तरह तबाह हो गईं और उसके तीन सैनिक मारे गए।
जानकारी के अनुसार, गुरुवार सुबह पाकिस्तानी सेना ने बालाकोट, बलनोई व देगवार सेक्टर में भारी गोलाबारी शुरू कर दी। इसकी आड़ में आतंकियों को भारतीय क्षेत्र में दाखिल कराने का प्रयास किया, जिसे सीमा पर सतर्क भारतीय सेना के जवानों ने नाकाम बना दिया। भारत की जवाबी कार्रवाई में पाक सेना की पांच चौकियां तबाह हो गई और कम से कम पाक सेना के तीन सैनिक भी ढेर हो गए। इसके बाद भी पाक सेना ने गोलाबारी बंद नहीं की और देर शाम पुंछ के ही खड़ी करमाड़ा, शाहपुर किरनी, कसबा अरैर गोंतरियां सेक्टर में भी भारी गोलाबारी शुरू कर दी।
इसमें 30 वर्षीय शाहिन अख्तर पत्नी महमूद अहमद निवासी गोंतरियां व 80 वर्षीय नूर मुहम्मद पुत्र कामी निवासी करमाड़ा घायल हो गए। दोनों घायलों को जिला अस्पताल पुंछ में भर्ती कराया गया है। जिला आयुक्त पुंछ राहुल यादव व अन्य अधिकारियों ने अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल जाना और बेहतर उपचार उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने घायलों को रेड क्रास फंड से राहत चेक भी दिए। रात तक पाक सेना रिहायशी क्षेत्रों पर मोर्टार दागती रही।
पाकिस्तान की तरफ से कठुआ के हीरानगर सेक्टर में रात को फिर गोलाबारी शुरू कर दी गई। मन्यारी व पानसर गांव को निशाना बनाया। बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे भी इन गांवों को लक्ष्य कर गोलीबारी की, जो रात दो बजे तक चली। तहसीलदार सोहनलाल का कहना है कि प्रशासन हालात पर नजर रखे हुए है। जरूरत पड़ी तो लोगों को सुरक्षित स्थानों पर लाने के भी उचित प्रबंध किए गए हैं।गौरतलब है कि आठ अक्टूबर को पाक विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान में मौजूद भारत के उप उच्चायुक्त गौरव  संघर्षविराम उल्लंघन में एक महिला की मौत के खिलाफ विरोध जताने के लिए तलब किया था। जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के भारत सरकार के पांच अगस्त के फैसले के बाद से भारत और पाकिस्तान के संबंधों में तनाव बढ़ गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *