पुलवामा हमले पर उबली विश्व बिरादरी वहीं पाक ने दी सफाई

नई दिल्ली। कार्यालय संवाददाता
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर किए गए जघन्य हमले के बाद पूरी दुनिया में शोक की लहर दौड़ गई है। घटना को लेकर पाकिस्तान ने सफाई दी है, वहीं विश्व के अन्य देशों ने इस हमले की कड़ी निंदा की है।
हमले के बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान जारी किया है। पाकिस्तान ने कहा है कि हम विश्व में कहीं पर भी होने वाली हिंसा की निंदा करते हैं। पाकिस्तान ने इस हमले को लेकर सफाई देते हुए लिखा है भारत अधिकृत कश्मीर के पुलवामा में हुआ हमला चिंता का विषय है। विश्व में कहीं पर भी होने वाली हिंसा की गतिविधियों की हम कड़ी निंदा करते हैं। इसके साथ ही बिना जांच के भारतीय मीडिया और सरकार द्वारा हमले का लिंक पाकिस्तान से जोड़े के तमाम आक्षेपों को सिरे से खारिज करते हैं।
इस भयावह हमले के बाद भारत ने यूएन से जैश-ए-मोहम्मद और पाकिस्तान में आजाद घूम रहे मसूद अजहर को प्रतिबंधित करने की मांग की है। भारत के विदेश मंत्रालय द्वारा एक बयान में कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र के सदस्य सभी देशों को अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने के साथ ही उस पर नकेल कसने के प्रस्ताव का समर्थन करना चाहिए।

यूएन ने कहा कठघरे में लाए जाएंगे जिम्मेदार
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले की संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने निंदा करते हुए शोक संतप्त परिवारों के लिए संवेदना जताई है। संयुक्त राष्ट्र की ओर से कहा गया है कि हम जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए हमले की कड़ी निंदा करते हैं। जिन परिवारों ने अपनों को खोया है हमारी उनके प्रति गहरी संवेदना है। हम सभी घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं। हमले के जिम्मेदार सभी लोगों को कठघरे में लाया जाएगा।

अमेरिका ने कहा हम भारत के साथ
भारत में अमेरिका के राजदूत केनेथ जस्टर ने ट्वीट कर कहा अमेरिका जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा करता है। पीड़ित परिवारों के प्रति हम शोक संवेदना व्यक्त करते हैं। यही नहीं, रूस ने आतंकी हमले की निंदा की है। भारत में फ्रांस के राजदूत अलेक्जेंड्रे जिगलर ने कहा फ्रांस जम्मू-कश्मीर में हुए जघन्य हमले की कड़ी निंदा करता है। जर्मनी ने कहा कि वह अपने रणनीतिक सहयोगी भारत के साथ खड़ा है। आस्ट्रेलिया ने भी इस घटना को लेकर नाराजगी जाहिर की है। अमेरिका के शीर्ष सांसदों ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए कहा अमेरिका आतंक का सामना करने और उसे हराने के लिए भारत के साथ खड़ा है।

इजरायल ने कहा हम भारत के साथ
जहां एक ओर पाकिस्तान ने इस मामले में सफाई दी है, वहीं भारत के मित्र राष्ट्र इजरायल के राजदूत डॉ. रॉन माल्का ने ट्वीट किया, श्इजरायल पुलवामा में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा करता है और इस मुश्किल वक्त में अपने भारतीय दोस्तों के साथ खड़ा है। हम सीआरपीएफ और शहीद जवानों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।श्

बांग्लादेश बोला जघन्य हमला
पुलवामा हमले की बांग्लादेश ने भी कड़ी निंदा की है। बांग्लादेश सरकार ने लिखा है कि इस दुख की घड़ी में हम भारत सरकार और लोगों के साथ खड़े हैं। जिन्होंने इस घटना में अपने चहेतों को खो दिया है, हम उनके लिए शोक व्यक्त करते हैं। हमारी प्रार्थना उन लोगों के जल्द स्वस्थ होने के लिए भी है, जो इस हमले में घायल हुए हैं।

आतंक के खिलाफ शुरू हो निर्णायक संघर्ष
श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने पुलवामा हमले को लेकर कहा कि मैं जम्मू-कश्मीर में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा करता हूं। हमले में कई जवान शहीद हुए हैं। मैं शहीदों के परिवारवालों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। विश्व को आतंकवाद के खिलाफ लड़ते रहना चाहिए।

ओली ने की मोदी से फोन पर बात
इतना ही नहीं, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने पुलवामा अटैक के मामले को लेकर भारत के पीएम नरेंद्र मोदी से बातचीत की और उन्होंने पुलवामा हमले में शहीद जवानों के प्रति संवेदना जताई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *