मयंक के दौहरे शतक से भारत ने बांग्लादेश पर शिकंजा कसा

– 343 रनों की बढ़त हासिल की

 विशेष प्रतिनिधि

इंदौर । सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के दोहरे शतक 243 रनों और आजिंक्य रहाणे के 86 रनों की पारी से भारतीय टीम ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के दूसरे दिन छह विकेट पर 493 रनों का विशाल स्कोर बना लिया। मयंक और रहाणे के अलावा , चैतेश्वर पुजारा ने 54, रविन्द्र जडेजा ने नाबाद 60 और उमेश यादव ने तेजी से खेलते हुए नाबाद 25 रन बनाये। इससे पहले मेहमान बांग्लादेश की टीम अपनी पहली पारी में 150 रनों पर आउट हो गयी थी। इस प्रकार पहली पारी के आधार पर भारतीय टीम को 343 रनों की अच्छी खासी बढ़त मिल गयी थी। दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक उमेश और जडेजा क्रीज पर थे। भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने टेस्ट करियर का दूसरा दोहरा शतक लगाते हुए 243 रनों की पारी खेली थी। यह मयंक का टेस्ट क्रिकेट में दूसरा दोहरा शतक है जबकि अभी तक इस बल्लेबाज ने आठ टेस्ट ही खेले हैं।
मयंक ने दोहरा शतक लगाकर महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन का एक बड़ा विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया। मयंक ने 12वीं पारी में दोहरा शतक लगाया जबकि ब्रैडमैन ने 13 पारियों में यह रिकॉर्ड बनाया था।
अंतिम समय में उमेश यादव ने आक्रामक पारी खेलते हुए तीन छक्के लगाये, दूसरे दिन एक विकेट पर 86 रनों से आगे खेलते हुए भारतीय बल्लेबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया।
मयंक और रहाणे ने टीम को दूसरे दिन चायकाल तक तीन विकेट के नुकसान पर 303 रनों पर पहुंचा उसे मजबूत कर दिया था। दिन का खेल समाप्त होने तक जडेजा 60 और उमेश यादव 25 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे। बांग्लादेश की ओर से अबू जायद ने सबसे ज्यादा चार विकेट लिए। मेहदी हसन और इबादत हुसैन ने एक-एक विकेट लिया।
मयंक ने रहाणे के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 190 रनों की साझेदारी की। रहाणे ने 86 रनों की पारी खेली। उन्होंने 172 गेंदों का सामना किया और 9 चौके लगाए। मयंक और रहाणे ने मिलकर भारत को मुश्किल परिस्थिति से निकाला।
पुजारा ने भी 72 गेंदों पर 54 रनों की पारी खेली। वह दिन के पहले विकेट के रूप में पहले सत्र में पविलियन लौटे। मयंक और पुजारा दोनों ने दिन की शुरुआत एक विकेट के नुकसान पर 86 रनों के साथ की थी। अर्धशतक पूरा करने के बाद पुजारा अबू जायद की गेंद पर आउट हो गए। जायेद ने ही कप्तान विराट कोहली को खाता नहीं खोलने दिया।
पहले सत्र में इसके बाद मयंक और रहाणे ने कोई और विकेट नहीं गिरने दिया। दूसरे सत्र में आकर मयंक ने अपना तीसरा टेस्ट शतक पूरा किया। रहाणे ने भी अपने पचास रन पूरे किए और दोनों ने यह तय किया कि बांग्लादेश को इस सत्र में भी चौथा विकेट न मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *