Fri. Apr 23rd, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली । महाराष्ट्र और हरियाणा में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर रैलियों का दौर जारी है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरियाणा के फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में रैली को संबोधित कर रहे हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री ने रविवार तो महाराष्ट्र के साकोली और भंडारा में जनसभा को संबोधित किया था। वहीं कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने रविवार को ही महाराष्ट्र के चांदीवली और लातूर में रैली की थी। जलगांव में पीएम मोदी ने कहा था कि बीते कुछ महीनों में कांग्रेस-एनसीपी के नेताओं के बयान देख लीजिए। जम्मू-कश्मीर को लेकर जो पूरा देश सोचता है, उससे एकदम उल्टा इनकी सोच दिखती है। इनका तालमेल पड़ोसी देश के साथ मिलता जुलता है। आज पूरा देश ये भी देख रहा है कि जिनके हितों पर इस फैसले से चोट हुई है, वो सदमे में हैं, तिलमिलाए हुए हैं। ये लोग इस फैसले पर सवाल उठा रहे हैं, विदेशों में जाकर मदद मांग रहे हैं। ये हरियाणा की, पूरे देश की भावना थी कि, जम्मू-कश्मीर को अलगाव और हिंसा से निकालकर, सद्भाव और सशक्तिकरण की तरफ ले जाया जाए। आज जम्मू कश्मीर और लद्दाख, विकास और विश्वास के एक नए रास्ते पर चल पड़ा है।
-आपके इसी विश्वास और उसके साथ से मिली ऊर्जा का ही परिणाम है कि भारत आज वो फैसले ले रहा है, जिसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता था। मैं किस फैसले की बात कर रहा हूं, आपको पता है न? ये फैसला है आर्टिकल 370 का।
-आज आप देख रहे हैं कि कैसे पूरी दुनिया, दुनिया के बड़े-बड़े नेता भारत के साथ खड़े होने के लिए, भारत के साथ आने के लिए आतुर हैं। आपने जो जनादेश दिया है उससे दुनिया में ये संदेश दिया है कि अब भारत का समाज बंटा हुआ नहीं है बल्कि एकजुट होकर विकास और विश्वास की नीति के साथ खड़ा है।
-विशेषतौर पर हमारे युवा साथियों ने, किसान और श्रमिक साथियों ने, हमारी बहनों ने, नई उम्मीदों और नए सपनों के लिए कमल के निशान पर बटन दबाया।
-ये इस धरती का, यहां के लोगों का सहयोग और समर्थन है जिन्होंने मनोहर लाल जी और उनकी टीम को ताकत दी है।आपका यही आशीर्वाद हमें लोकसभा चुनाव के दौरान भी मिला है।
-संयोग देखिए, जो तब मुझसे कैप्टन को लेकर सवाल करते थे, वो आज अपनी बिखरी टीम को ही समेटने में एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं। वो खुद को जितना समेटने की कोशिश कर रहे हैं, उतना ही बिखरते जा रहे हैं।
-आज 5 साल बाद कैप्टन भी पूरी बुलंदी के साथ आपके सामने है और मज़बूत टीम भी। यही टीम है जिसने विकास के मामले में हरियाणा को अग्रणी रखा है, अव्वल रखा है।
-मुझे याद है कि 5 वर्ष पहले जब मैं हरियाणा में भाजपा सरकार बनाने की बात करता था, तो सामने से हमारे विरोधी पूछते थे कि कैप्टन कौन है? तब मेरा जवाब होता था कि हरियाणा ने अगर अवसर दिया तो, हरियाणा को एक सक्षम कैप्टन भी मिलेगा, मज़बूत टीम भी मिलेगी।
-हरियाणा ने मुझे बहुत सिखाया है और इसलिए जब भी मैं यहां आता हूं, तो एक अलग ही भावना रहती है। यहां का विकास, यहां के लोगों के जीवन में बदलाव मेरी हमेशा प्राथमिकता रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *