Thu. Apr 22nd, 2021

विशेष प्रतिनिधि

मुंबई । पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने ‘राजनीतिक प्रतिशोध’ के लिए जांच एजेंसियों का इस्तेमाल किए जाने की प्रवृत्ति के खिलाफ गुरुवार को नरेंद्र मोदी सरकार को आगाह किया है। सिंह ने कहा मोदी सरकार के कार्यकाल में ईडी को कुछ ज्यादा ही शक्तियां मिल गई हैं।
उन्होंने आगाह किया कि इन शक्तियों का इस्तेमाल विवेकपूर्ण तरीके से किया जाना चाहिए। पूर्व प्रधानमंत्री की टिप्पणी ऐसे समय आई है, जब उनके पूर्व कैबिनेट सहयोगी एवं कांग्रेस नेता पी चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी के बाद जेल में हैं। वहीं, महाराष्ट्र में राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल को संपत्ति खरीद के एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने पूछताछ के लिए तलब किया है। ईडी ने राकांपा प्रमुख शरद पवार को भी महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले में नामजद किया है। सिंह ने कहा, मैं उम्मीद करता हूँ कि विभिन्न नेताओं से हिसाब चुकता करने के लिए ईडी और सीबीआई जैसी एजेंसियों को मोहरा नहीं बनाया जाना चाहिए।
उल्लेखनीय है कि मनमोहन सरकार को भी राजनीतिक फायदोंके लिए सीबीआई जैसी केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग करने के आरापों का सामना करना पड़ा था। उन्होंने कहा, आज ईडी को पहले से कहीं अधिक शक्तियां प्राप्त हैं। हम उम्मीद करते हैं कि इन शक्तियों का इस्तेमाल राजनीतिक हिसाब चुकता करने के लिए नहीं किया जाएगा। मनमोहन सिंह ने विश्वास जताया कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि पटेल को न्याय मिलेगा और उन्हें दोषी सिद्ध होने तक निर्दोष माना जाएगा। पटेल भी मनमोहन सिंह नेतृत्व वाली संप्रग सरकार में मंत्री रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *