Thu. Feb 25th, 2021

विशेष प्रतिनिधि 

मुंबई । प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता प्रफुल्ल पटेल से 12 घंटों तक पूछताछ की है। मनी लॉन्ड्रिंग की ये जांच अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के सहयोगी इकबाल मिर्ची की कथित गैर कानूनी संपत्ति से जुड़ी है। ईडी के एक अधिकारी ने शुक्रवार रात को दावा किया कि पटेल ने जांच में ‘सहयोग नहीं’ दिया। ये पूछे जाने पर कि क्या उन्हें शनिवार को दोबारा बुलाया जाएगा अधिकारी ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की।
हालांकि उन्होंने बताया कि पटेल और रियल एस्टेट समूह एचडीआईएल के बीच कथित संबंधों को लेकर उनका भविष्य में एचडीआईएल के राकेश वधावन से आमना-सामना कराया जा सकता है। ईडी के अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को पूछताछ के दौरान पटेल से करीब 50 सवाल पूछे गए। यूपीए सरकार में पूर्व केंद्रीय मंत्री पटेल शुक्रवार सुबह लगभग साढ़े 10 बजे दक्षिण मुंबई में बल्लार्ड एस्टेट स्थित ईडी कार्यालय पहुंचे थे। विमानन घोटाले से जुड़े धनशोधन के एक अन्य मामले में ईडी पटेल से पहले ही पूछताछ कर चुका है।
प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों के अनुसार, प्रफुल्ल पटेल की ‘मिलेनियम डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड’ ने 2006-2007 में मुंबई में सीजे हाउस नामक एक इमारत का निर्माण किया था। इस इमारत की तीसरी और चौथी मंजिल मिर्ची की पत्नी हाजरा इकबाल के नाम स्थानांतरित (ट्रांसफर) कर दी गई। जिस जमीन पर इमारत बनाई गई, कहा जाता है कि वह जमीन इकबाल मिर्ची की है। पटेल और उनकी पार्टी ने सौदे में कुछ भी गलत किए जाने से इनकार करते हुए कहा कि संपत्ति के दस्तावेज बताते हैं लेकिन ‘लेन-देन पूरी तरह साफ सुथरा और पारदर्शी है।’ हाल ही में पटेल ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान अपने कथित सौदे की खबरों को ‘कोरी अटकलें’ बताकर खारिज कर दिया था। उधर नागपुर में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (पीएमसी बैंक) में करोड़ों रुपये के घोटाले में पटेल के खिलाफ जांच कराने की मांग की। पटेल का नाम लिये बिना जावड़ेकर ने कहा, ‘कुछ लोग ईडी जांच का सामना कर रहे हैं… पीएमसी बैंक दिवालिया मामले में भी उनकी भूमिका की जांच होनी चाहिए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *