Fri. Apr 23rd, 2021

विशेष संवाददाता

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेपी मॉर्गन इंटरनैशनल काउंसिल के सदस्यों से मुलाकात में भारत को 2024 तक पांच लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए उनके विचारों पर चर्चा की। 2007 के बाद पहली बार इंटरनैशनल काउंसिल की मीटिंग भारत में हुई है।
इंटरनैशनल काउंसिल में ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री जॉन हॉवर्ड, अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री हेनरी किसिंगर और कोंडालिजा राइस, अमेरिका के पूर्व रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स, जेपी मॉर्गन चेज के सीईओ जेमी डिमोन, टाटा समूह के रतन टाटा तथा नेस्ले, अलीबाबा, अल्फा, इबरडोला, क्राफ्ट हेंज जैसी वैश्विक कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल थे।
बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने भारत का स्वास्थ्य, शिक्षा तथा 2024 तक अर्थव्यवस्था को 5 लाख करोड़ डॉलर का बनाने के लिए किए गए प्रयासों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि विश्वस्तरीय फिजिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर तथा सस्ते स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र में सुधार तथा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना सरकार की प्राथमिकताओं में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *