Fri. Apr 23rd, 2021

विशेष संवाददाता  

पटना । बिहार में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले हुए उपचुनावों के ‘सेमी फाइनल’ में सत्तारूढ़ राजग (एनडीए) का प्रदर्शन संतोषजनक नहीं रहा है। वहीं, समस्तीपुर लोकसभा सीट पर लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) फिर से जीत आसानी से बरकरार रखती दिख रही है। लोजपा राजग का एक घटक दल है। दरअसल, यह सीट पार्टी के सांसद रामचंद्र पासवान का निधन हो जाने पर रिक्त हुई थी। इस सीट पर उनके पुत्र प्रिंस राज कांग्रेस के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी अशोक कुमार से 8,000 से अधिक मतों से आगे चल रहे हैं। बता दें कि राज्य में विधानसभा की पांच सीटों पर हुए उपचुनावों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नीत जद (यू) के उम्मीदवार दरौंदा, सिमरी बख्तियारपुर और बेल्हार में 10,000 से अधिक मतों से तथा नाथनगर में मामूली अंतर से पीछे हैं। जानकारी के अनुसार इन पांच सीटों में से चार सीटें जद (यू) के पास थीं।
गौरतलब है कि इन सीटों के विधायकों के लोकसभा के लिए निर्वाचित हो जाने के बाद ये सीटें रिक्त हो गई थी। जिसके चलते वहां उपचुनाव कराये गये। इसमें किशनगंज में भाजपा के उम्मीदवार हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम से पीछे चल रही हैं, जबकि इस सीट पर पहले काबिज रही कांग्रेस तीसरे नंबर पर है। वहीं, महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे एवं लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त का सामना कर चुके राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने सिमरी बख्तियारपुर तथा बेल्हार में अच्छी बढ़त बना ली है। पार्टी नाथनगर में लगभग एक हजार मतों से आगे चल रही है। जद (यू) उम्मीदवार के समर्थन में बैठने से इनकार करने पर भाजपा से निष्कासित एक बागी उम्मीदवार ने सीवान जिले की दरौंदा सीट पर 20,000 से अधिक मतों से बढ़त बना ली है। यह निर्वाचन क्षेत्र जद (यू) का गढ़ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *