Tue. Apr 13th, 2021

विशेष संवाददाता

ई दिल्‍ली । सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को त्रिपुरा हाई कोर्ट में चीफ जस्टिस के तौर पर बम्बई हाईकोर्ट के जस्टिस अकील कुरैशी की नियुक्ति में होने वाले विलंब से संबंधित चार याचिकाओं पर सुनवाई को चार नवंबर तक स्‍थगित कर दिया है। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट कालेजियम ने 10 मई को जस्टिस अकील कुरैशी के लिए यह सिफारिश की थी। उन्‍होंने कहा था कि जस्टिस अकील कुरैशी गुजरात हाई कोर्ट के सीनियर जस्टिस हैं और अभी बांबे हाई कोर्ट में हैं। कोलेजियम के अनुसार, जस्टिस कुरैशी मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर उपयुक्‍त हैं। लेकिन केंद्र की ओर से जारी आदेश के अनुसार, 5 सितंबर को इस फैसले में बदलाव किया गया और मध्‍य प्रदेश की जगह त्रिपुरा हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के तौर पर नियुक्ति की पेशकश की गई।
फिलहाल इसपर फैसला नहीं किया गया है। वहीं, जस्टिस अकील कुरैशी की नियुक्ति पर हो रही देरी को लेकर गुजरात हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई। याचिका में कहा गया कि केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने यह निर्देश दिया है कि वह बांबे हाई कोर्ट के जस्टिस अकील कुरैशी को मध्य प्रदेश हाई कोर्ट का चीफ जस्टिस नियुक्त किए जाने की कॉलेजियम की सिफारिश पर अमल करे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *