Sun. Feb 28th, 2021

विशेष संवाददाता

मदुरै । तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली जिले के नादुकट्टुपट्टी में 25 फुट गहरे बोरवेल में गिरे बच्‍चे को निकालने के लिए 2 दिन बाद भी प्रयास जारी हैं। अब उसे ड्रिलिंग कर निकालने का प्रयास किया जा रहा है। सुजीत विल्‍सन नाम का बच्‍चा 25 अक्टूबर को बोरवेल में गिर गया था। इसके बाद से इसे बचाने के लिए युद्धस्‍तर पर प्रयास किए जा रहे हैं।
हालांकि, अब बच्‍चे के बचने के आसार काफी कम हो गए हैं। दीपावली की रात भी हजारों लोग बच्‍चे की सलामती की दुआ मांगते रहे। उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम पूरे ऑपरेशन पर नजर रखे हुए हैं, बीती रात वह घटनास्‍थल पर पहुंचे और बच्चे परिवार के लोगों को सांत्वना दी। बच्‍चे को बोरवेल में गिरे लगभग 52 घंटे से अधिक समय बीत चुका है। 2 वर्षीय सुजीत शुक्रवार शाम करीम 5:30 बजे बोरवल में गिर गया था। पहले जानकारी मिली थी कि रात होते-होते बच्चा और नीचे पहुंच गया और लगभग 70 फीट पर जाकर फंस गया। बताया जा रहा है कि वर्तमान में बच्चा करीब 100 फीट की गहराई में फंसा हुआ है। बच्चे के बचाव कार्य के लिए बोरिंग मशीन को बुलाया गया। अधिकारियों ने बताया कि एनडीआरएफ की 6 टीम मौके पर बचाव कार्य में जुटी हुई हैं।
बचाव कार्य में जुटे लोगों ने बताया शनिवार को पहले बच्चे के रोने की आवाज सुनाई पड़ रहीं थी, लेकिन अब आवाज नहीं आ रही है। हालांकि, बच्‍चे को लगातार ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजय भास्कर ने बताया कि बच्चे को लगातार बोरवल में आक्सीजन सप्लाई की जा रही है, ताकि अंदर सांस लेने में कोई परेशानी न हो। हालांकि, ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है, जब इतने गहरे बोरवेल में फंसने के बाद बच्‍चे की जान बच जाए। इसके बाद भी, बचाव अभियान को बंद नहीं किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *