Thu. Feb 25th, 2021

विशेष संवाददाता

लखनऊ । देश की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्‍सप्रेस में सफर कर रहे यात्रियों की होस्‍टेस के साथ सेल्‍फी लेने की दीवानगी से परेशान होकर रेलवे और आईआरसीटीसी ने कुछ कदम उठाए हैं। आईआरसीटीसी ने महिला अटेंडेंट के लिए एक वॉट्सऐप ग्रुप बनाया है। किसी परेशानी में फंसने पर वे इसका इस्‍तेमाल कर सकती हैं। आईआरसीटीसी इस ट्रेन का संचालन कर रही है। आईआरसीटीसी ने एक होस्‍टेस की चेतावनी के बाद यह कदम उठाया है। तेजस ट्रेन 4 अक्‍टूबर से लखनऊ से दिल्‍ली के बीच चालू की गई है। हालांकि, आईआरसीटीसी ने दावा किया है कि ट्रेन में चलने वाले महिला स्‍टाफ ने अब तक किसी किस्‍म के उत्‍पीड़न की शिकायत नहीं की है, लेकिन भविष्‍य में ऐसी किसी घटना से बचने के लिए यह कदम उठाया गया है।
आईआरसीटीसी ने इस बात से इनकार किया है कि उसने इस सिलसिले में यात्रियों के लिए कोई अडवाइजरी जारी की है। हाल ही में आईआरसीटीसी के एचआर और एडमिन डिपार्टमेंट की वरिष्‍ठ महिला अधिकारियों ने तेजस में चलने वाली महिला अटेंडेंट के साथ बैठक की थी। इस बैठक में यह जानने की कोशिश की गई थी कि कभी इन होस्‍टेस को किसी यात्री की ओर से उत्‍पीड़न का सामना तो नहीं करना पड़ा या उनमें असुरक्षा का भाव तो नहीं आया। आईआरसीटीसी लखनऊ के चीफ रीजनल मैनेजर ने बताया, ‘यात्रियों के फीडबैक सिस्‍टम की ही तरह हमने अपने स्‍टाफ से इसकी जानकारी ली थी। अभी तक यात्रियों के बर्ताव को लेकर कोई शिकायत नहीं आई है।
असल में तेजस एक्‍सप्रेस में हवाई यात्रा जैसा अनुभव देने के लिए महिला अटेंडेंट होस्‍टेस के रूप में तैनात की गई हैं। तेजस पर कुल 45 होस्‍टेस को नियुक्त किया गया है। आमतौर पर एक तरफ की यात्रा के दौरान 24 होस्टेस अपनी सेवाएं देती हैं। इस दौरान उनके साथ छेड़छाड़ की तो कोई घटना नहीं हुई, लेकिन कभी-कभी उनके साथ सेल्‍फी खिंचवाने की यात्रियों की होड़ सीमा पार कर जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *