Thu. Feb 25th, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली । दूरसंचार कंपनी ‎रिलायंस ‎जियो यूजर्स के लिए एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। दरअसल साइबर सिक्यॉरिटी फर्म ‎सिमानटेक ने एक मैलवेयर सोर्स कोड का पता लगाया है। आशंका जताई गई है कि हैकर्स इसे रिलायंस जियो के यूजर्स पर साइबर अटैक करने के लिए तैयार कर रहे हैं। एक्सहेल्पर नाम का यह मैलवेयर फोन में छिपा रहता है और अन्य मलिशस ऐप डाउनलोड करता या विज्ञापन दिखाता है। कंपनी ने एक ऑफिशल ब्लॉग पोस्ट में कहा ‎कि हमने कई क्लासेस और कॉन्स्टेंट वैरिएबल्स को देखा है, जिन्हें जियो के रूप में लेबल किया गया है। ये क्लासेस अभी के लिए लागू नहीं की गई हैं, लेकिन हमें संदेह है कि अटैकर्स भविष्य में जियो यूजर्स को टारगेट करने की प्लानिंग कर रहे हैं।’ एक्सहेल्पर आपके फोन में एक ऐप के रूप में डाउनलोड होता है और फिर अपने आप छिप जाता है। यह ऐप ऑफिशल गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं है, लेकिन थर्ड पार्टी ऐप स्टोर और अन्य सोर्स पर इसे देखा गया है। रिलायंस जियो यूजर्स को रैंडम ऐप्स और अनजान एपीके फाइल्स को इंस्टॉल नहीं करने की सलाह दी जाती है। सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि इस मैलवेयर को अनइंस्टॉल करने बाद यह फिर से अपने आप आपके फोन में इंस्टॉल हो जाएगा। डिवेलपर्स ने इसे इस तरह डिजाइन किया है कि यह हिडेन ऐप (न दिखने वाला) की तरह काम करता है। सिक्यॉरिटी फर्म सिमेंटेक का दावा है कि पिछले 6 महीने में इस मैलवेयर ने 45 हजार से ज्यादा ऐंड्रॉयड डिवाइसेस को प्रभावित किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *