Tue. Mar 2nd, 2021

विशेष प्रतिनिधि

कन्याकुमारी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर से छेड़छाड़ करके उसे फेसबुक पर पोस्ट करना एक शख्स को भारी पड़ गया। इस पोस्ट के एक महीने बाद तमिलनाडु के कन्याकुमारी जिला निवासी जबीन चार्ल्स को एक साल के लिए सोशल मीडिया से दूर रहने की सजा मिली है। जबीन ने इसके लिए बाकायदा मद्रास हाईकोर्ट में लिखित हलफनामा दिया है। सोमवार को अग्रिम जमानत लेने के लिए जबीन ने मद्रास हाई कोर्ट को लिखित में दिया कि वह अगले एक साल तक सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करेंगे। जस्टिस जीआर स्वामीनाथन ने कहा अगर जबीन को सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हुए पाया गया, तो उनकी जमानत कैंसिल कर दी जाएगी। जस्टिस स्वामीनाथन ने जबीन को कहा कि वह एक माफीनामा लिखकर भी कोर्ट को दें।
उल्लेखनीय है कि एक महीने पहले जबीन की इस पोस्ट के अगले ही दिन भाजपा पदाधिकारी नांजिल राजा ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी और मामला हाईकोर्ट पहुंच गया था। जबीन चार्ल्स ने अपने बचाव में सुप्रीम कोर्ट द्वारा कही गई बात याद दिलाई कि पब्लिक फोरम पर अपनी राय रखना कोई अपराध नहीं है।
हालांकि, चार्ल्स ने अपनी इस पोस्ट पर खेद व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने इस पोस्ट को तुरंत ब्लॉक कर दिया था क्योंकि उन्हें एहसास हो गया था कि प्रधानमंत्री का अपमान सही नहीं है। उन्होंने कोर्ट के सामने यह भी कहा कि वह स्थानीय अखबार में भी माफीनामा छपवाने के लिए तैयार हैं। कन्याकुमारी की वाडसरी पुलिस ने चार्ल्स के खिलाफ 11 अक्टूबर को आईपीसी की धारा 505 (2) और आईटी एक्ट 2000 की धारा 67 बी के तहत मुकदमा दर्ज किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *