Mon. Mar 1st, 2021

विशेष संवाददाता

नई दिल्ली। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का अनुमान है कि अगले 10-15 वर्षों में भारत की अर्थव्यवस्था बढ़कर 10 हजार अरब डॉलर की हो जाएगी।रक्षा उत्कृष्टता में नवाचार (आईडीईएक्स) पहल के तहत हासिल की गईं उपलब्धियों को प्रदर्शित करने के लिए रक्षा मंत्रालय द्वारा आयोजित ‘डेफ कनेक्ट 2019’ के उद्घाटन सत्र में सिंह ने कहा कि आज स्टार्टअप्स को देखकर वे गौरवान्वित महसूस करते हैं और इनके लिए अनुकूल स्थितियां बनाने की जरूरत है।
उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2024 तक अर्थव्यवस्था को 5 हजार अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। भारत में मौजूद प्रतिभाओं को देखते हुए मुझे पूरा भरोसा है कि हम अगले 10-15 सालों में 10 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बन सकते हैं। सिंह ने कहा कि भारत रक्षा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में आयातक की जगह नवाचार और निर्यातक के तौर पर उभरेगा।
स्टार्टअप अनुकूलन को बेहद जटिल चुनौती मानते हुए उन्होंने कहा कि विचार महान हो सकता है और नवाचारी दिमाग उनका समाधान भी पा सकता है। हालांकि सावधानीपूर्ण और जोशीले तरीके से अनुकूलन नहीं मिलने पर रचनात्मकता और परियोजनाएं विफल हो सकती हैं। रक्षामंत्री ने स्वदेशी रक्षा उद्योग और राष्ट्र निर्माण के लिए सरकार के पूर्ण सहयोग का आश्वासन भी दिया।
राजनाथ सिंह ने भरोसा जाहिर किया कि भारत एक दिन हथियारों का आयातक नहीं बल्कि निर्यातक देश के तौर पर उभरेगा। यहां रक्षा मंत्रालय द्वारा आयोजित डेफ- कनेक्ट 2019 सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में रक्षा मंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया में भारत तकनीक और शांति रक्षण के क्षेत्र में अग्रणी देश बन चुका है।राजनाथ सिंह ने कहा कि एक बड़ी ताकत के नाते हमारे लिये रक्षा निर्माण और शोध एवं विकास के क्षेत्र में भी महारत हासिल करना उतनी ही अहमियत रखता है।
रक्षा मंत्री ने कहा कि किसी भी देश के लिये ज्ञान और ताकत का संगम होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि आईडेक्स भारत में ज्ञान औऱ ताकत के संगम का अनोखा मंच बन कर उभरेगा। इससे युवा शक्ति का इस्तेमाल हो सकेगा। उन्होंने कहा कि मानव मस्तिष्क सबसे क्षमतावान औऱ रचनात्मक प्रयोगशाला है जो लाखों दिमागों की रोजाना परीक्षा लेता है।
रक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार ने ‘मेक इन इंडिया’, स्टार्ट अप इंडिया और अटल इनोवेशन मिशन जैसी योजनाएं शुरू की हैं जो देश के रचनात्मक प्रतिभाओं को समुचित माहौल औऱ मौका प्रदान करती हैं। उन्होंने कहा कि युवा प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने के लिये सरकार ने हाल में अपनी प्रयोगशालाओं के द्वार खोले हैं। इस मौके पर रक्षा मंत्री ने आइडेक्स का लोगों जारी किया। इसके जरिये उन युवाओं को अपनी क्षमता दिखाने का मौका मिलेगा जो अपनी तकनीक का इस्तेमाल देश के रक्षा क्षेत्र के लिये करना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *