Sat. Oct 16th, 2021

विशेष प्रतिनिधि 

जयपुर। राज्‍स्‍थान के स्‍थानीय निकायों पर किसका होगा कब्‍जा, इसका फैसला आज हो जाएगा. राजस्थान में 49 नगर निकायों में 2,000 से अधिक पार्षदों के लिए हुए चुनाव में वोटों की गिनती मंगलवार सुबह शुरू हो गई. राज्य निर्वाचन विभाग के सूत्रों ने बताया कि सभी निर्धारित केन्द्रों पर मतगणना सुबह आठ बजे शुरू हुई. परिणाम दोपहर के बाद आने की उम्मीद है. बता दें, राज्य में तीन नगर निगमों, 18 नगर परिषद और 28 नगरपालिकाओं यानी कुल 49 निकायों में सदस्य पार्षद पद के लिए शनिवार को मतदान हुआ था. चुनाव में कुल 71.53 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया.
इन 49 निकायों में कुल 2,105 वार्डों में चुनाव होना था जिनमें से 14 वार्डों में पार्षद निर्विरोध चुने जा चुके हैं. बाकी 2,081 वार्ड में 7,942 उम्मीदवार अपना चुनावी भाग्य आजमा रहे हैं जिनमें 2,832 महिलाएं व 5,109 पुरुष प्रत्याशी शामिल हैं.
पार्षद चुने जाने के बाद तय कार्यक्रम के अनुसार नगर निकायों में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव 26 नवंबर और उपाध्यक्ष पद के लिए 27 नवंबर को करवाया जाएगा.
अगस्‍त 2015 में हुए निकाय चुनाव में कई दिलचस्प वाकये हुए थे. देश में पहली बार उम्मीदवारों को शपथ पत्र देना पड़ा था कि उनके घर में शौचालय है और उनके परिवार का कोई भी सदस्य खुले में शौच करने नहीं जाता है. चुनाव लड़ने के लिए शौचालय का होना जरूरी शर्त था और चुनाव के पहले राजस्थान सरकार ने इस बारे में एक अध्यादेश भी जारी किया था.
उम्मीदवारों का 10वीं पास होना भी जरूरी है. किसी चुनाव के लिए ये सब देश में पहली बार हुआ था. 2015 की जनवरी में हुए पंचायत चुनावों में भी राजस्थान सरकार ने शर्त रखी थी कि चुनाव लड़ने के लिए शैक्षणिक योग्यता जरूरी होगी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *