Mon. Mar 1st, 2021

विशेष संवाददाता

मुंबई। महाराष्ट्र की राजनीति में शनिवार सुबह से ही तहलका मचाते हुए भाजपा ने शनिवार को सुबह का सूरज निकलते ही सारे समीकरण बदल दिए और देवेंद्र फडणवीस के एक बार फिर से राज्य के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठा दिया। शिवसेना इस पूरे घटनाक्रम से अनजान अपने नेता को मुख्यमंत्री बनाने की कोशिशों में लगी रही। जब फडणवीस राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले रहे थे तब भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की कही वो बात याद आ गई जिसमें उन्होंने राजनीति की तुलना क्रिकेट से की थी। उन्होंने अपने एक बयान में कहा था कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी संभव है और शनिवार को यही हुआ।
गडकरी ने राज्य में सरकार बनने के बाद एक बार फिर अपना बयान याद करते हुए कहा है कि मैं तो पहले ही बोला था कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है और लगता है अब आपको मेरी बात समझ आ गई होगी।
दरअसल, 14 नवंबर को एक कार्यक्रम में शिरकत करते हुए महाराष्ट्र में चल रहे सियासी घमासान पर केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था, ‘क्रिकेट और राजनीति में कभी भी कुछ भी हो सकता है। कभी लगता है कि आप हार रहे हैं, लेकिन परिणाम एकदम उलट आता है।’ हुआ भी कुछ ऐसा ही है और जब लग रहा था कि अब शिवसेना भाजपा के बिना ही सरकार बनाने वाली है और तभी आखिरी बॉल पर सिक्स मारते हुए भाजपा ने एनसीपी के साथ राज्य में सरकार बना ली।
दरअसल, नितिन गडकरी पुणे में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे और इस दौरान मीडिया ने उनसे महाराष्ट्र के सियासी संकट पर सवाल पूछ लिया। उन्होंने तभी इशारों में कह दिया था कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने वाली है। हालांकि, उन्होंने तब इस मुद्दे और ज्यादा बोलने से इन्कार करते हुए कहा था कि चूंकि मैं अपना ज्यादातर समय दिल्ली में बिता रहा हूं, इसलिए मुझे नहीं पता कि महाराष्ट्र में क्या हो रहा है। वहीं इस बीच गडकरी के बयान पर महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोराट ने कहा कि क्रिकेट में बॉल दिखती है जबकि राजनीति में नहीं दिखती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *