Sat. Feb 27th, 2021

विशेष संवाददाता

नई दिल्ली | उपमुख्यमंत्री पद के लिए अपनी पार्टी से बगावत कर भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार बनाने वाले अजित पवार की अब घर वापसी हो गई है. बुधवार को वह विधानसभा भी पहुंचे, जहां सुप्रिया सुले ने उनका स्वागत किया. अब पार्टी नेता नवाब मलिक का कहना है कि अजित पवार ने अपनी गलती मान ली है और शरद पवार ने उन्हें माफ कर दिया है|
बुधवार को एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा, ‘उन्होंने (अजित पवार) अपनी गलती मान ली है. ये परिवार का मामला है, पवार साहेब ने उन्हें माफ कर दिया है. वह पार्टी में ही हैं और उनका पद नहीं बदला है|विधायक पद की शपथ लेने के बाद अजित पवार ने कहा कि मैं एनसीपी में था और हूं. उन्होंने कहा कि एनसीपी ने उन्हें पार्टी से निकाला ही नहीं है, अब पार्टी ही उनका रोल तय करेगी|अजित पवार बोले कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उन्होंने अपना निर्णय बदला|
गौरतलब है कि इससे पहले जब सुप्रिया सुले से भी अजित पवार को लेकर सवाल किया गया था तो उन्होंने पॉजिटिव जवाब ही दिया था. सुप्रिया सुले ने कहा था कि परिवार में कुछ खट्टा-मीठा चलता रहता है, NCP उनका ही घर है, ऐसे में स्वागत करने जैसी कोई बात नहीं है. बुधवार को जब अजित पवार विधानसभा पहुंचे तो भी सुप्रिया सुले ने गले लगकर अजित पवार का स्वागत किया था|
दूसरी ओर सरकार में एनसीपी की साथी शिवसेना के नेता संजय राउत का कहना है कि अजित पवार एक बड़ा काम करके लौटे हैं, ऐसे में उन्हें सही जिम्मेदारी दी जाएगी. बता दें कि देवेंद्र फडणवीस के साथ उपमुख्यमंत्री बनने से पहले अजित पवार, एनसीपी के विधायक दल के नेता थे लेकिन बाद में एनसीपी ने कार्रवाई करते हुए उन्हें पद से हटा दिया था|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *