Mon. Mar 1st, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली | संसद में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को लेकर हंगामा मचा ही हुआ है, लेकिन इस बीच गोडसे की पूजा करने के मामले में मध्य प्रदेश की ग्वालियर पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है|गिरफ्तार किए गए आरोपी हिंदू महासभा के कार्यकर्ता हैं. आरोपियों का नाम नरेश और पवन है. उन्होंने 15 नवंबर को हिंदू महासभा कार्यालय में पूजन किया था. ये कार्यालय दौलतगंज में है|
पिछले दिनों गोडसे को देशभक्त बताना बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ बिहार के मुजफ्फरपुर के सीजेएम सूर्य कांत तिवारी की कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया है. मुजफ्फरपुर के मिठनपुरा थाना क्षेत्र के पक्की सराय निवासी नैयर की याचिका को सीजेएम सूर्यकांत तिवारी की अदालत ने स्वीकार कर लिया |
अदालत ने इस याचिका पर अगली सुनवाई के लिए 12 दिसंबर की तारीख मुकर्रर की है. जानकारी के मुताबिक राजू नैयर की ओर से दायर इस परिवाद के आधार पर बीजेपी की सांसद साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 295, 504 के तहत केस दर्ज किया गया है. इस समय संसद का शीतकालीन सत्र चल रहा है. शीतकालीन सत्र की कार्यवाही के दौरान दो दिन पहले लोकसभा में एसपीजी अमेंडमेंट बिल पर चर्चा हो रही थी कि चर्चा के दौरान डीएमके के सांसद ए राजा गोडसे के एक बयान का हवाला दे रहे थे कि उसने महात्मा गांधी को क्यों मारा. सांसद राजा के इतना कहते ही साध्वी प्रज्ञा ने टोक दिया|
सांसद साध्वी प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताते हुए कहा, ‘आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते.’ हालांकि बाद में विरोध के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान को लोकसभा के रिकॉर्ड से हटा दिया गया. विवाद के बाद बीजेपी और सरकार ने भी अपनी सांसद के बयान से किनारा कर लिया | इस बीच आज शुक्रवार को साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने संसद में माफी मांग ली. उन्होंने कहा कि मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया. अगर किसी को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं. मैं महात्मा गांधी का श्रद्धा सुमन से सम्मान करती हूं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *