Sun. Feb 28th, 2021

विशेष संवाददाता

महाराष्ट्र । उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी महाविकास अघाड़ी सरकार शनिवार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित करेगी। 288 सदस्यों के सदन में अघाड़ी में शामिल शिवसेना के पास 56, एनसीपी के पास 54 और कांग्रेस के पास 44 विधायक हैं। इस प्रकार गठबंधन के पास कुल 154 विधायकों का समर्थन है, जबकि जादुई आंकड़ा 145 का है। महाराष्ट्र महाविकास अघाड़ी के नेता थोड़ी देर बाद विधानसभा में बैठक कर विश्वास मत और विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव को लेकर चर्चा के लिए बैठक करेंगे।
बहुमत परीक्षण के पहले शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी के बीच डिप्टी सीएम पद को लेकर सहमति नहीं बन सकी है। एक तरफ कांग्रेस जहां अपनी पार्टी के लिए एक डिप्टी सीएम का पद चाहती है वहीं एनसीपी और शिवसेना ने इसे लेकर असहमति का इजहार किया है। जानकारों के अनुसार बहुमत परीक्षण के पहले गठबंधन में शुरू हुआ विवाद बड़ा रूप ले सकता है।इस बीच बहुमत परीक्षण से पहले अघाड़ी ने भाजपा के कालिदास कोलंबकर को प्रोटेम स्पीकर से हटाकर एनसीपी के दिलीप वलसे पाटिल को नया प्रोटेम स्पीकर बना दिया है।सियासी उठापटक के बीच मंगलवार को अघाड़ी ने मुंबई के ग्रैंड हयात होटल में 162 विधायकों के समर्थन का दावा करते हुए भाजपा और जनता के लिए शक्ति प्रदर्शन किया था। कुछ निर्दलीय सदस्यों के समर्थन का दावा भी महाविकास अघाड़ी कर रही है। सदन में भाजपा के 105 सदस्य हैं और पार्टी के रूप में वह सबसे बड़ा दल है।
मुंबई के ऐतिहासिक शिवाजी पार्क में गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले उद्धव ने शुक्रवार को करीब डेढ़ बजे मंत्रालय की छठी मंजिल पर स्थित मुख्यमंत्री कार्यालय में पहुंच कर पदभार संभाला था। इस अवसर पर मंत्रालय को खूब सजाया गया था।पदभार संभालने पहुंचे उद्धव के साथ उनके विधायक-पुत्र आदित्य ठाकरे तथा एनसीपी-कांग्रेस के नेता भी मौजूद थे। यहां पहुंचने से पहले उद्धव महाराष्ट्र के गठन के आंदोलन में शहीद होने वाले लोगों की स्मृति में बने हुतात्मा चौक पर गए और उन्हें श्रद्धांजलि दी।पदभार संभालने के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने जनता से जुड़े कार्यों में तेजी लाने और पैसे की बर्बादी रोकने का भी निर्देश दिया। बैठक के बाद उद्धव ने कहा- मैं आज पहली बार मंत्रालय आया हूं। अधिकारियों के साथ बैठक की। मैंने उनसे कहा कि टैक्स देने वाली जनता का पैसा ठीक तरह से खर्च हो और इसे बर्बाद नहीं किया जाना चाहिए। महाराष्ट्र में एक पैसे की हेराफेरी नहीं होगी।
महाराष्ट्र में नई सरकार बनने के बाद आरे कॉलोनी में मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए बन रहे कार शेड का काम रोकने के आदेश दे दिए गए हैं। हालांकि आदेश में कहा गया है कि मेट्रो का काम जारी रहेगा, लेकिन अब एक भी पेड़ नहीं काटा जाएगा।यह जानकारी खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को मीडिया को दी। उन्होंने कहा कि आरे में मेट्रो शेड का काम रोक दिया गया है। उद्धव ने कहा कि मैं महाराष्ट्र का पहला सीएम हूं जिसका जन्म मुंबई में हुआ।ये बात मेरे दिमाग में चल रही है कि मैं मुंबई के लिए क्या कर सकता हूं। उन्होंने कहा कि मैं अचानक ही सीएम बन गया। जब यह जिम्मेदारी मेरे पास आई, अगर मैं इससे भागता तो मुझे बालासाहब ठाकरे की नालायक औलाद कहा जाता।मंत्रालय में मुख्यमंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने के बाद संवाददाताओं से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में ठाकरे ने कहा कि यह (भगवा) उनका पसंदीदा रंग है जो किसी भी लॉन्ड्री में धुलाई से जाएगा नहीं। मुख्यमंत्री से यह सवाल भगवा रंग के कुर्ते के बारे में किया गया था जो उन्होंने पहन रखा था।
भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र की नवगठित उद्धव सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल की पहली बैठक में उसने किसानों को राहत देने पर चर्चा करने के बजाय बहुमत साबित करने पर चर्चा करना जरूरी समझा। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘नई सरकार ने मंत्रिमंडल की पहली बैठक में परेशान किसानों की मदद कैसे की जाए इस पर विचार करने के बजाय बहुमत कैसे साबित करें इस पर चर्चा की। तो फिर आंकड़े होने का दावा ही क्यों किया था। उन्होंने यह भी कहा कि नियम को ताक पर रख कर गठबंधन प्रोटेम स्पीकर को क्यों बदला, जबकि वह बहुमत होने का दावा कर रहा है। इससे पहले शिवसेना के अब्दुल सत्तार ने कहा, ‘शनिवार को बहुमत परीक्षण हो सकता है। हम तैयार हैं। पहले हमारे पास 162 विधायकों का समर्थन था। अब यह संख्या 170 हो गई है। यह संख्या और बढ़ेगी। लेकिन इस बात में कोई संदेह नहीं है कि इस सरकार के पास बहुमत है। ये तीनों पार्टियां पांच साल अच्छा प्रदर्शन करेंगी और अगले 10 सालों तक सत्ता में रहेंगी।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *