Thu. Apr 22nd, 2021

नई दिल्ली । दिल्ली में किसानों के आंदोलन ने कई विपक्षी दल के एकत्रीकरण का मार्ग प्रशस्त किया है । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पहली बार किसी मुद्दे पर एक साथ दिखाई दिए ।
कुछ महीने पहले जब बिहार में बालिका गृह कांड पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने दिल्ली में विरोध प्रदर्शन किया था तब दोनों नेता अलग-अलग समय में पहुंचे थे। 2019 आम चुनाव से पहले विपक्षी एकता की कोशिश में लगे नेताओं का मानना है कि अगर बिना मुद्दे के वे एकजुट होते हैं तो इसका नुकसान हो सकता है और सिर्फ मोदी हटाओ रणनीति इससे सामने आती है। आशंका जताई गई कि इसका लाभ मोदी को मिल सकता है।
सूत्रों के अनुसार किसानों की कर्जमाफी और एमएसपी बढ़ाने की मांग विपक्ष का साझा अजेंडा बन सकती। इन मुद्दों के अलावा कुछ चुनिंदा मुद्दों पर उनमें एकजुटता दिख सकती है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के अनुसार वे मुद्दों आधारित गठबंधन करने की दिशा में बढ़ रहे हैं।
वहीं, आम चुनाव से पहले किसानों का आंदोलन भाजपा के लिए चिंता की बात है। अभी हो रहे पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में किसानों का मुद्दा गर्म था। ऐसे में चुनाव की घोषणा से पहले किसानों की मांगों को पूरा करने का दबाव सरकार पर बढ़ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *