Mon. Mar 1st, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली । एक दिन पहले ही जमानत पर तिहाड़ जेल से बाहर आए पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार पर जमकर निशाना साधा है। चिदंबरम ने सरकार पर आर्थिक सुस्ती को लेकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पिछली 6 तिमाही में देश की जीडीपी 8 से 4.5 प्रतिशत पर आ गई है, लेकिन सरकार का इस दिशा में सुधार करने का कोई प्लान नहीं है। पी चिदंबरम ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था बिगड़ी पड़ी है। इसके लिए कोई समाधान नहीं खोजा जा रहा है। सरकार इस मामले पर जिद्दी रवैया अपनाए हुए है। नोटबंदी, जीएसटी और टैक्स टेररिजम से देश की अर्थव्यस्था अपने सबसे बुरे दौर में चली गई है। उन्होंने कहा, ‘इस सरकार ने अच्छे दिन लाने का वादा किया था। मैं आपके सामने पिछली 6 तिमाही के आंकड़े रखता हूं। 8 प्रतिशत से 7, 6.6, 5.5, 5 और अब 4.5 प्रतिशत। क्या यही सरकार के अच्छे दिन हैं।’
पी चिदंबरम ने कहा, ‘यदि साल के आखिर में ग्रोथ 5 प्रतिशत को छूती है तो हम अपनेआप को सौभाग्यशली समझेंगे। देश के बड़े अर्थशास्त्री डॉ. अरविंद सुब्रण्यन ने 5 प्रतिशत को लेकर चेतावनी दी थी, लेकिन अब स्थिति उससे भी खराब है।’उन्होंने कहा, ‘हर बार की तरह पीएम मोदी इस मुद्दे पर चुप हैं। उन्होंने इस मुद्दे पर अपने मंत्रियों को झूठ बोलने की छूट दे दी है। जैसा कि द इकॉनमिस्ट ने कहा है कि अर्थव्यवस्था के लिए यह सरकार अक्षम प्रबंध के तौर पर उभरी है।’पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि दुनिया भर के बिजनस के दिग्गज अंतरराष्ट्रीय अखबार पढ़ते हैं। और नंबरों पर खास ध्यान देते हैं। हर सेक्टर के आंकड़े साफ कह रहे हैं कि अर्थव्यवस्था किस दिशा में जा रही है। जीडीपी लगातार गिर रही है, उद्योगों की हालत खराब है, बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है। प्याज के दाम 100 रुपये किलो से ज्यादा हैं, भले ही वित्त मंत्री प्याज नहीं खाती हैं।
पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, ‘पिछली रात 8 बजे मैं बाहर आया और आजादी में सांस ली। मेरे पहला विचार और प्रार्थना कश्मीर के उन 75 लाख लोगों के लिए है, जिन्हें 4 अगस्त से अब तक आजादी नहीं मिली है।’ उन्होंने कहा कि मैं कश्मीर के नेताओं को लेकर चिंतित हूं जिन्हें बगैर किसी चार्ज के हिरासत में रखा गया है। यदि हम अपनी आजादी की बात करते हैं तो हमें उनकी आजादी की लड़ाई भी लड़नी चाहिए।पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, ‘मंत्री के तौर पर मेरा रेकॉर्ड बिल्कुल साफ है। जिन अधिकारियों ने मेरे साथ काम किया है, जो बिजनसमैन मेरे सम्पर्क में आए हैं और जिन पत्रकारों ने मुझसे बात की है, वे इस बारे में अच्छी तरह जानते हैं।’ यदि आप मेरे केस से जुड़े मामलों को लेकर कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कल का सुप्रीम कोर्ट का फैसला पढ़ लें, आपको काफी बातें साफ हो जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *