Mon. Mar 1st, 2021

विशेष संवाददाता

नई दिल्ली । इनकम टैक्स महकमे ने पैन नंबर को आधार से लिंक करने की अवधि को बढ़ाकर 31 दिसंबर कर दी है, इसलिए एक महीने के भीतर दोनों को ऑनलाइन या एसएमएस के जरिये लिंक कराना होगा। यह सातवीं बार है, जब इस समय-सीमा को बढ़ाया गया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) उन पैन कार्ड को ‘अमान्य’ या बेकार घोषित कर सकता है, जिसे आधार के साथ लिंक नहीं किया गया होगा। आयकर विभाग ने कहा, ‘जो लोग आधार को लिंक नहीं करेंगे, उनके पैन को अमान्य मान लिया जाएगा और उन पर इससे जुड़े अधिनियम के अन्य प्रावधान लागू होंगे।’ वित्त विधेयक के मुताबिक, वैसे सभी पैन कार्ड जो आधार से लिंक नहीं होंगे वे इसे लिंक करने की समय-सीमा के खत्म होने के बाद निष्क्रिय हो जाएंगे। हालांकि, इस बात की संभावना है कि आयकर विभाग इस तरह के निष्क्रिय पैन कार्ड को आधार से लिंक करने के बाद इसके रिवाइवल की अनुमति दे सकता है। फिलहाल इसके रिवाइवल को लेकर कोई जानकारी नहीं है, इसलिए बेहतर है कि बिना कोई जोखिम लेते हुए दोनों कार्ड को आपस में लिंक करा लें। मौजूदा नियम पैन की जगह आधार नंबर देने की मंजूरी देता है, इसलिए जब आप आयकर रिटर्न भरने में पैन की जगह आधार नंबर देंगे तो आपका नया पैन नंबर जारी किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *