Tue. Mar 2nd, 2021

पीएनबी-इलाहाबाद बैंक में अकाउंट है तो रहे सावधान

नई दिल्ली। संवाददाता

साइबर अपराधियों ने बुधवार सुबह इलाहाबाद बैंक की एक ही ब्रांच के कई खाताधारकों को चपत लगा दी। अधचिनी ब्रांच में बुधवार सुबह ही एक-एक बाद एक कई लोगों ने ऐसी शिकायतें की। इससे बैंक के अधिकारी भी परेशान हो गए। ज्यादातर पीड़ितों ने कहा कि गोविंदपुरी, कालकाजी, अलकनंदा स्थित अलग-अलग एटीएम से पैसे निकाले हैं। पीड़ितों ने इसके लिए बैंक पर लापरवाही का आरोप लगाया है।
– क्या है मामला
साइबर ठगी के शिकार हुए अक्षित शर्मा का कहना है कि बुधवार सुबह 9 से 10 बजे के बीच उनके करेंट अकाउंट से 3 बार में कुल 25 हजार रु निकालने के मैसेज आए। उन्होंने तुरंत कस्टमर केयर फोन किया तो बताया गया कि उनके खाते से कालकाजी स्थित एटीएम से पैसे निकाले गए हैं। कार्ड को ब्लॉक करवाकर वह अधचिनी स्थित इलाहाबाद बैंक की ब्रांच पहुंचे, लेकिन ब्रांच की तरफ से कोई मदद नहीं मिल सकी। अक्षित ने बताया कि उन्होंने हाल ही में अकाउंट खुलवाया है। अभी तक उन्होंने कार्ड का इस्तेमाल भी नहीं किया गया था। वहीं, वरिष्ठ नागरिक बलवान सिंह का कहना है वह हमेशा अधचिनी स्थित ब्रांच के एटीएम से ही रुपये निकालते हैं, लेकिन बुधवार सुबह उनके खाते से 25 हजार रुपये निकाल लिए गए। मोबाइल पर मैसेज देखकर वह बैंक पहुंचे तो अधिकारी कहने लगे कि आपने खुद ब्रांच से रुपये निकाले हैं। पीड़ित का आरोप है कि बैंक की लापरवाही से कार्ड की क्लोनिंग हुई है। वहीं, सुबह पौने 11 बजे रमेश के अकाउंट से 8500 रु निकाले गए। सुबह 10.52 बजे लवकेश शर्मा के अकाउंट से भी 10 हजार रुपये निकाल लिए गए। पास में रहने वाली एक अन्य महिला के अकाउंट से भी 25 हजार रु निकाल लिए गए।
धड़ाधड़ हुए फर्जी ट्रांजेक्शन के कारण सुबह से ही बैंक में लोग शिकायत लेकर पहुंचने लगे। बैंक मैनेजर ने बताया कि सभी पीड़ितों की शिकायत ले ली गई हैं। संबंधित तकनीकी अधिकारियों और एटीएम सर्विस प्रोवाइडर (थर्ड पार्टी) को मेल कर दी गई है। दो घंटे तक नहीं पहुंची पीसीआर बैंक से कोई मदद न मिलते देख लोगों ने पीसीआर कॉल की। पुलिस की ओर से कॉलर के पास मैसेज तो आए कि पुलिस जल्द ही पहुंच रही है, लेकिन करीब डेढ़ घंटे इंतजार करने के बावजूद मौके पर पुलिस नहीं पहुंची।
इस बारे में बैंक के एक अधिकारी ने बताया कि सेटेलाइट प्रोसेस के तहत ट्रांजेक्शंस होते हैं। मुंबई स्थित कार्यालय को मेल कर दिया गया है। जिन बैंकों के एटीएम से पैसे निकाले गए हैं, उनसे सीसीटीवी फुटेज समेत रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट के आधार पर ही पता चल सकेगा कि एटीएम कार्डों की क्लोनिंग की गई है या नहीं। अधिकारी ने कहा कि उन्हें 4 शिकायतें मिली हैं। हालांकि ब्रांच पर कई लोग शिकायत लेकर पहुंचे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *