Mon. Mar 1st, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली । कांग्रेस दिल्ली के रामलीला मैदन में मोदी सरकार के खिलाफ भारत बचाओ रैली कर रही है। जिसमें कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने बेरोजगारी, महिलाओं के खिलाफ होने वाले अत्याचार, किसान आत्महत्या, अर्थव्यवस्था आदि मुद्दों पर सरकार को घेरा। साथ ही उपस्थित लोगों से कहा कि देश को बचाना हमारा नैतिक कर्तव्य है। उन्नाव मामले का जिक्र करते हुए प्रियंका ने वह बेटी न्याय की लड़ाई हार गई। रैली के दौरान उन्होंने अपने पिता स्वर्गीय राजीव गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि इस मिट्टी में उनका खून मिला हुआ है।
अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा, हम इन ताकतों से इन शक्तियों से देश को बचाना चाहते हैं। हमारा देश एक स्वतंत्रता संग्राम से उभरा है। ये देश प्रेम का देश है, अंहिसा का देश है, भाईचारे का देश है। एक-दूसरे का हाथ थामने का है ये देश। एक मजबूत सपने का है देश, फैकटरी में कड़ी मेहनत करने वाला है यह देश। जवान में मन में देश प्रेम जगाने वाला है यह देश।उन्होंने अर्थव्यवस्था को लेकर सरकार पर हमला करते हुए कहा कि कुछ साल पहले हमारे देश की अर्थव्यवस्था चीन की तरह तेजी से बढ़ रही थी। अब जीडीपी पालात में चली गई है। उन्होंने यह भी कहा कि यह देश हर हिंदुस्तानी को लोकतंत्र की शक्ति देने वाला है क्योंकि भारत में इस समय एक ऐसी सरकार की छाया है जो असमानता दे रही है।
मंहगे प्याज पर सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, भाजपा है तो 100 रुपये किलो की प्याज मुमकिन है। भाजपा है तो चार करोड़ नौकरियां मुमकिन है। भाजपा है तो 15 हजार किसानों की हत्या मुमकिन है। भाजपा है तो नरत्न कंपनियों की बिक्री मुमकिन है। भाजपा है तो बेरोजगारी मुमकिन है। भाजपा है तो ऐसे कानून बन रहे है जिससे देश का संविधान खतरे में है। नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर सरकार पर हमला करते हुए प्रियंका ने कहा, ‘विभाजनकारी कानून से देश खतरे में है। इस देश को विनाश से बचाना हमारा नैतिक कर्तव्य है। जो लोग अब भी नहीं जागेंगे उन्हें इतिहास में कायर कहा जाएगा।उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दुष्कर्म पीड़िका को जिंदा जलाए जाने को लेकर उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। उन्नाव की बेटी हार गई। न्याय हर इंसान का हक है। न्याय की लड़ाई बहुत बड़ी है। न्याय की लड़ाई ही सबसे बड़ी देशभक्ति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *