Mon. Mar 1st, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली। जामिया मिलिया इस्लामिया और एएमयू में विरोध पर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष, सैयद घयोरुल हसन रिज़वी ने कहा, ‘मैं प्रदर्शनकारियों से अपील करता हूं कि इस तरह के विरोध प्रदर्शन नहीं किए जाने चाहिए। मैं पुलिस से भी अपील करता हूं कि वे कुछ संयम दिखाएं और स्थिति को शांति से नियंत्रित करें।
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष ने आगे कहा, ‘मैं प्रदर्शनकारियों से भी अपील करता हूं कि विरोध की आवश्यकता नहीं है क्योंकि नागरिकता संशोधन कानून भारत के मुसलमानों के खिलाफ नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि विरोध करना ही है तो इसे शांतिपूर्वक किया जाना चाहिए। वहीं, अगर आयोग को लगेगा की किसी प्रकार के नोटिस जारी करने की आवश्यकता है तो वह किया जाएगा। बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून 2019 के खिलाफ जामिया मिल्लिया इस्‍लामिया विश्वविद्यालय और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में रविवार को हिंसक प्रदर्शन हुआ। सीएए के विरोध के नाम पर असम और बंगाल से शुरू हुई हिंसा की लपटों ने रविवार को राजधानी दिल्ली और उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ को अपनी चपेट में ले लिया था। दिल्ली के जामिया मिल्लिया विश्‍वविद्यालय और अलीगढ़ के एएमयू में उपद्रवियों ने सबसे ज्यादा बवाल किया। दिल्ली में बसें तक फूंक दी गई।
दिल्ली में नागरिकता संशोधन एक्ट 2019 के खिलाफ जामिया मिल्लिया इस्लामिया में तीन दिन से विरोध प्रदर्शन चल रहा था लेकिन रविवार को इसमें उपद्रवी भी शामिल हो गए जिसके बाद स्थिति ब‍िगड़ गई। उत्पातियों ने पूरे दिन दिल्ली-नोएडा रोड और मथुरा रोड को ठप कर दिया। दिल्ली के जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में हुए लाठीचार्ज का मामला लखनऊ तक पहुंच गया है। रविवार देर रात शुरू हुआ हंगामा सोमवार को भी जारी रहा। नदवा कॉलेज के छात्रों ने परिसर के बाहर प्रदर्शन किया। नदवा कॉलेज के सैंकड़ों छात्र सोमवार सुबह कॉलेज के बाहर न‍िकल आए और प्रदर्शन करने लगे। ज‍िन्‍हें पुल‍िस वालों ने बलपूर्वक अंदर खदेड़ा। इससे गुस्‍साए छात्रों ने कॉलेज के अंदर से ईट और पत्‍थर फेंके। हालत ब‍िगड़ते देख पुल‍िस ने आंसू गैस छोड़कर छात्रों को त‍ितर-ब‍ितर क‍िया। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया क‍ि छात्रों ने पथराव क‍िया था, लेक‍िन हमने कुछ ही देर में स्‍थ‍ित‍ि को न‍ियंत्रण में कर ल‍िया। अब हालात सामान्य है। छात्र अपनी कक्षाओं में वापस जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *