Sat. Feb 27th, 2021

विशेष संवाददाता

हैदराबाद । तेलंगाना के हैदराबाद में 27 नवंबर को हुए एक महिला पशु चिकित्‍सक के रेप और मर्डर के चार में से दो आरोपी 9 और महिलाओं के साथ ऐसा ही कर चुके थे। यह दावा हैदराबाद रेप-मर्डर की जांच करने वालों ने किया है। उनका कहना है कि पूछताछ के दौरान इन दो आरोपियों ने माना था कि उन्‍होंने इन नौ महिलाओं के साथ रेप करके उन्‍हें जलाकर मार दिया था। बाद में ये चारों हैदराबाद पुलिस के साथ एनकाउंटर में मारे गए थे।
फिलहाल, साइबराबाद पुलिस आरोपियों से मिली जानकारी के आधार पर कर्नाटक में पड़ताल कर रही है, क्‍योंकि इनमें से कुछ घटनाएं तेलंगाना-कर्नाटक के सीमावर्ती इलाकों हुईं थीं। गौरतलब है कि मोहम्‍मद आरिफ, जे नवीन, जे शिवा और चेन्‍नाकेशवुलू ने महिला पशु चिकित्‍सक के साथ रेप किया था और बाद में उसे जलाकर मार दिया था। एक वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी ने मंगलवार को बताया, ‘कस्‍टडी में लेने के बाद हम तेलंगाना और कर्नाटक हाइवे पर महिलाओं के साथ रेप और जलाकर मारने की 15 घटनाओं में उनकी भूमिका की जांच कर रहे थे। इन चार में से दो ने इनमें से 9 घटनाओं में अपने शामिल होने की बात मान ली थी। हम हर एक केस की पुष्टि कर रहे हैं इसलिए अलग-अलग जगहों पर हमने जांचकर्ताओं की कई टीम भेजी हैं।
तेलंगाना पुलिस का दावा है कि आरिफ छह मामलों में शामिल था, चेन्‍नाकेशववुलू ने तीन महिलाओं का रेप और मर्डर किया था। तेलंगाना पुलिस ने बताया कि इन दोनों ने तेलंगाना के संगा रेड्डी, रंगा रेड्डी ओर महबूबनगर हाइवे और कर्नाटक के सीमावर्ती शहरों में ये अपराध किए। जांचकर्ता आरोपियों के दावे की जांच के लिए उनके मोबाइल फोन की टावर लोकेशन और अपराधस्‍थल के साथ मिलान कर रहे हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया, ‘आरिफ और चेन्‍नाकेशववुलू ने बताया कि उन्‍होंने हाइवे पर वेश्‍याओं, हिजड़ों समेत कई महिलाओं का यौन शोषण किया था। लेकिन 9 मामलों में उन्‍होंने महिलाओं को उसी तरह जलाकर मारा था जैसे पशु चिकित्‍सक की हत्‍या की थी। पुलिस का यह दावा ऐसे समय आया है जब सरकार द्वारा नियुक्‍त स्‍पेशल इन्‍व‍ेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) से 6 दिसंबर को हुए एनकाउंटर की जांच करने को कहा गया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित तीन सदस्‍यों का आयोग भी इस एनकाउंटर की जांच कर रहा है जिसकी अगुआई वीएस सरपुरकर कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *