Mon. Mar 1st, 2021

विशेष प्रतिनिधि

नई दिल्ली । दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में नागरिकता संशोधन कानून का जबरदस्त विरोध हो रहा है। लाल किला इलाके में धारा 144 लागू होने के बावजूद दर्जनों लोगों ने प्रदर्शन किया। जिन्हें पुलिस ने हिरासत में लिया है। इस दौरान किसी भी तरह की अफवाहें नहीं फैले इस कारण टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने राजधानी के कुछ हिस्सों में वॉयस, एसएमएस और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। एयरटेल ने कहा, सरकार के आदेश पर दिल्ली के कुछ इलाकों में वॉयस, एसएमएस और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं, जिन्हें सरकार के आदेश के बाद ही बहाल किया जाएगा।
नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में 9 दिसंबर को पास होने के बाद 11 दिसंबर, 2019 को राज्यसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने पेश किया जहां एक लंबी बहस के बाद यह बिल पास हो गया। इस बिल के पास होने के बाद यह नागरिकता संशोधन कानून बन गया। इस कानून के विरोध में असम, बंगाल सहित देश के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन तेज हो गए। 15 दिसंबर को कानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हिंसा हुई।जामिया की घटना के अगले दिन 16 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून को लेकर सीलमपुर में जमकर प्रदर्शन हुए। इस प्रदर्शन के दौरान पथराव की घटना हुई। 17 दिसंबर को देश के दूसरे हिस्‍सों में भी प्रदर्शन शुरू हो गए। जामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों के समर्थन में देश के कई यूनिवर्सिटी में भी प्रदर्शन हुए। कई यूनिवर्सिटी को 5 जनवरी, 2020 के लिए बंद कर हॉस्‍टल खाली करा लिया गया। उधर जमा मस्जिद के इमाम ने कहा है कि कानून से देश के मुसलमानों को कोई लेना-देना नहीं है। उन्‍हें नहीं डरना चाहिए। विरोध प्रदर्शन को देखते हुए 19 दिसंबर, 2019 को देश के कई हिस्‍सों में धारा 144 लागू कर दी गई है। उधर गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कर दिया है कि चाहे जितना भी विरोध हो इस कानून को वापस नहीं लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *