Mon. Mar 1st, 2021

विशेष संवाददाता

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिसंबर 2019 को अपने मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है। पीएम की अपने मंत्रिमंडल के साथ बैठक का समय सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर तय किया गया है। यह बैठक प्रवासी भारती केंद्र में होनी है। पीएम नरेंद्र मोदी के सामने इस बैठक में सभी मंत्रालयों का प्रजेंटेशन होगा। मोदी सरकार 2.0 में ये दूसरी बार हुआ है जब ऐसी बैठक बुलाकर कामकाज की समीक्षा की जाएगी। इस बैठक में मंत्री अपने-अपने मंत्रालय के बारे में प्रधानमंत्री को जानकारी देंगे। इस बैठक में आवास और पेयजल जैसे कई मुद्दों पर मंथन भी होगा। सूत्रों के मुताबिक खबर ये भी है कि इस मीटिंग में गृह मंत्री और बीजेपी पार्टी अध्यक्ष अमित शाह संगठन महामंत्री बीएल संतोष भी मौजूद रहेंगे।
सूत्रों के मुताबिक इस मीटिंग के जरिए प्रधानमंत्री मोदी ये जानने की कोशिश करेंगे कि उनकी प्राथमिकता वाली योजनाओं का किस मंत्रालय में क्या हाल है। कमजोर प्रदर्शन करने वाले मंत्रालयों के मंत्री हटाए जा सकते हैं। इसके अलावा एक साथ कई बड़े मंत्रालय चला रहे मंत्रियों से कुछ मंत्रालय लेकर नए चेहरों को मौका दिये जाने की खबरों ने भी जोर पकड़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिसंबर को सभी मंत्रियों को रिपोर्ट कार्ड लेकर सात लोक कल्याण रोड स्थित अपने आवास पर तलब किया है।
प्रधानमंत्री मोदी के सामने सभी मंत्री प्रजेंटेशन देंगे। लचर प्रदर्शन वाले मंत्रियों गाज गिर सकती है। इस अहम मीटिंग के मद्देनजर मोदी कैबिनेट के बहुप्रतीक्षित विस्तार की अटकलें जोर पकड़ रही हैं। बता दें कि 30 मई 2019 को शपथ लेने के छह महीने बाद भी मोदी सरकार 2.0 की कैबिनेट का विस्तार किया गया है, जबकि 2014 में मई में सरकार बनने के छह महीने में ही 9 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना पहला कैबिनेट विस्तार किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 मई 2019 को अपनी दूसरी पारी की शुरूआत की थी। मोदी सरकार 2.0 में कुल 57 मंत्रियों के साथ शपथ ली थी। नियमों के मुताबिक लोकसभा की कुल सदस्य संख्या का 15 प्रतिशत यानी अधिकतम 81 मंत्री बनाए जा सकते हैं। पिछली सरकार में मोदी सरकार में 70 मंत्री थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *