Mon. Mar 1st, 2021

विशेष प्रतिनिधि

पटना। नागरिकता संशोधन विधेयक व राष्‍ट्रीय नागरिक रजिस्‍टर के विरोध में आयोजित राष्‍ट्रीय जनता दल के बिहार बंद  के दौरान शनिवार को राज्‍य में कई जगह भारी हिंसा  हुई। सबसे बड़ी घटना पटना में हुई, जहां दो गुटों के बीच भिड़त के दौरान जमकर पथराव हुआ। इस दौरान हुई गालीबारी में 11 लोगों को गोली लगी। जबकि, एक को छुरा भी मारा गया। घटना के दौरान पथराव में आधा दर्जन पुलिसकर्मियों सहित दो दर्जन लोग घायल हो गए। पटना में ही आंदोलनकारियों की गुंडई के शिकार मीडियाकर्मी भी हुए। उधर, औरंगााबद में पथराव में एसडीपीओ सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए। पथराव के दौरान कथित तौर पर पुलिस पर बमबारी भी की गई। मुजफ्फरपुर, भागलपुर व नवादा सहित कई अन्‍य जगहों पर भी भारी हिंसा की। स्थिति पर नियंत्रण के लिए पुलिस ने जगह-जगह आंसू गैस के गोले छोड़े तथा लाठीचार्ज किया। इससे भी हालात काबू में नहीं आए तो हवाई फायरिंग की। शनिवार को आरजेडी के बिहार बंद के दौरान पटना के फुलवारीशरीफ में दो पक्षों के बीच फायरिंग व पथराव हुआ। गोलीबारी में 13 लोग घायल हो गए। उनमें आठ अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान, दो पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल तथा एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। एक व्‍यक्ति को छुरा भी लगा है।
पथराव में छह पुलिस कर्मियों सहित डेढ़ दर्जन से अधिक लोगों के घायल होने की सूचना हैं। उनका इलाज स्थानीय अस्पतालों में किया जा रहा है। एम्स के इमरजेंसी विभागाध्यक्ष डॉ. अनिल कुमार ने बताया कि वहां भर्ती 10 लोगों में आठ लोगों को गोली लगी है। जबकि, दो पथराव में घायल हैं। सभी खतरे से बाहर हैं। डीएम कुमार रवि ने बताया कि फुलवारीशरीफ में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 प्रभावी कर दी गई है। एसएसपी गरिमा मलिक ने बताया कि स्थिति अब नियंत्रण में है। पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं।
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बंद के समर्थन में निकला जुलूस टमटम पड़ाव के पास धार्मिक स्थल से गुजर रहा था। इसी दरम्यान सीएए के समर्थन में कुछ लोगों ने नारेबाजी की। दोनों पक्ष में पहले नोकझोंक हुई। कुछ लोग धार्मिक स्थल को नुकसान पहुंचाने लगे। इस पर दोनों ओर से पथराव शुरू हो गया। दोनों ओर से दो दर्जन राउंड फायरिंग भी हुई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोडऩे पड़े। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पुलिस ने भी फायरिंग भी की। सिटी एसपी अभिनव राज के नेतृत्व में पुलिस उपद्रवियों की गिरफ्तारी को तलाशी अभियान चला रही है। उधर, बिहार बंद के दौरान औरंगाबाद शहर के जामा मस्जिद के समीप आंदोलनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया। इसमें एसडीपीओ अनूप कुमार सहित एक दारोगा व आधा दर्जन पुलिसकमीॅ घायल हो गए। बताया जाता है कि पथराव के दौरान पुलिस पर बमबारी भी की गई। स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग की।
मुजफ्फरपुर में बिहार बंद के दौरान बंद समर्थकों ने जमकर बवाल किया। उन्‍होंने सड़कों पर आगजनी करते हुए जाम दिया। बंद समर्थकों ने ब्रह्मपुरा स्थित कई दवा दुकानों में भी जमकर तोड़फोड़ की। इससे स्थानीय दुकानदार आक्रोशित हो गए। उन्‍होंने बंद समर्थकों को खदेड़ दिया। रामदयालु में भी बंद समर्थकों और स्थानीय लोगों के बीच झड़प हुई। वहां पथराव में कई लोग घायल हो गए। भागलपुर में भी बंद समर्थकों व दुकानदारों के बीच झड़प हुई। व्‍यवसायियों ने कहा कि बंद समर्थक जबरन बंद करा रहे थे।भागलपुर में बंद के दौरान कई जगहों पर वाहनों के शीशे तोड़े गए। आरजेडी के जिला अध्यक्ष तिरुपति नाथ यादव ने भी कई वाहनों में तोड़फोड़ की। कोतवाली पुलिस ने तिरुपतिनाथ यादव और आरजेडी के युवा अध्यक्ष मो. चांद को गिरफ्तार कर लिया।
पटना में फुलवारीशरीफ के अलावा मीठापुर बस स्‍टैंड व डाक बंगला चौराहा आदि कई जगहों पर हिंसा हुई। इस दौरान उपद्रवी तत्‍वों ने मीडिया पर भी हमला किया। नवादा के रजौली बस स्टैंड के समीप आंदोलनकारियों की पुलिस से झड़प हुई। वहां जमकर पथराव के बाद सिथति पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस ने लाठियां चलाईं। पटना बस स्‍टैंड पर भी बंद समर्थकों ने आगजनी की। उन्‍होंने बस स्‍टैंड के पास गाडि़यों में तोड़फोड़ की तथा पुलिस बैरिकेडिंग को भी डंडों से तोड़ा। कटिहार के मनिहारी के दिलरपुर में दो गुटों में भिड़ंत को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *