Sun. Feb 28th, 2021

विशेष संवाददाता

नई दिल्ली। बुराड़ी सामूहिक आत्महत्या…सुनते ही आंखों के सामने वह घर आ जाता है जहां परिवार के 11 लोगों ने एक साथ जान दे दी थी। करीब डेढ़ साल से यह घर अफवाहों के चलते खाली पड़ा है। लेकिन आखिरकार अब वहां फिर से चहल-पहल होगी। एक शख्स ने उस घर को किराए पर ले लिया है। अब तक यह घर लोगों के डर और तरह-तरह की अफवाहों की वजह से खाली था। बता दें कि बुराड़ी के इस घर में 1 जुलाई 2018 को 11 लोगों ने सूइसाइड कर लिया था। घर के 10 सदस्य फांसी से लटके मिले थे, वहीं 77 साल की महिला का मृत शरीर दूसरे कमरे में बेड पर था।
इस घर को अब मोहन सिंह कश्यप नाम के शख्स ने किराए पर लिया है। वह वहां ग्राउंड फ्लोर पर पैथलॉजी लैब बनाएंगे और पहले फ्लोर पर परिवार के साथ रहेंगे। मोहन बताते हैं कि वह उस घर के बारे में फैली भूतिया कहानियों से परिचित हैं और शिफ्ट होने से पहले लोगों की तसल्ली के लिए हवन करवाएंगे। परिवार को उस घर में रहने में कोई दिक्कत? इस सवाल पर मोहन बताते हैं कि मेरे बच्चे इस घर में पहले से आते-जाते रहे हैं, वे यहां ट्यूशन पढ़ते थे।
बता दें कि मोहन की दुकान फिलहाल उस घर के पास ही है। बच्चे भी पास के ही स्कूल में पढ़ते हैं। लेकिन घर भजनपुरा (कुछ किलोमीटर दूर) में है। ऐसे में वह दुकान के पास ही घर लेने की सोच रहे थे और आखिरकार यह घर ले लिया। घर की जिम्मेदारी फिलहाल दिनेश चूंडावत पर है। वह मृत परिवार के रिश्तेदार हैं। उन्हें इस बात की खुशी है कि कोई वहां रहने आ रहा है। घर में निकले 11 पाइप भी काफी रहस्यमयी थे। इनके बारे में मोहन ने कहा कि कुछ को बंद करवा दिया गया है, कुछ को खोला रखना जरूरी है। वह घर में दूसरे रिपेयर के काम भी करवा रहे हैं। दरअसल, घर की दीवार पर प्लास्टिक के बड़े 11 पाइप लगे हैं। ये पाइप अपर ग्राउंड फ्लोर की दीवार से बगल वाले खाली प्लॉट की तरफ निकले हैं। अगर दूरी पर होते, तो शायद लोग कयास न लगाते। मगर दो पाइप एक फुट की दूरी पर हैं, जबकि बाकी पाइप आसपास हैं। इनमें चार पाइप बिल्कुल सीधे थे और 7 पाइप हल्के मुड़े हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *