Sun. Feb 28th, 2021

विशेष प्रतिनिधि

लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी  ने नागरिकता संशोधन कानून  को लेकर महासंपर्क अभियान का आगाज कर दिया है. अभियान के क्रम में बीजेपी नेता पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक रूप से प्रताड़ित किए गए हिन्दू, सिख, जैन, बौद्ध, ईसाई, पारसियों को नागरिकता प्रदान करने की आवश्यकता और कानून की वास्तविकता को लेकर जनता के दरबार में पहुंचे. बीजेपी के अनुसार कांग्रेस और सपा सहित विपक्ष द्वारा सीएए को लेकर फैलाए गए भ्रम के साथ हिंसा व पत्थरबाजी को लेकर विपक्ष को जवाब देने के लिए भाजपा ने राष्ट्रव्यापी महासंपर्क अभियान प्रारम्भ किया है. इसके तहत जिला स्तर पर जन-जन के बीच पहुंची.
बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गाजियाबाद में अभियान का नेतृत्व किया. वहीं पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बरेली तो प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में महासंपर्क अभियान का नेतृत्व किया. प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और नोएडा में प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने अभियान को गति दी.
पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गाजियाबाद में घर-घर संपर्क करने के बाद आयोजित गोष्ठी में कहा कि आजादी के बाद कई पीढ़ियां बदली लेकिन उनकी कई आशाएं और आकांक्षाएं अधूरी रहीं. नड्डा ने कहा कि मैं आज एक बार फिर से राहुल गांधी को चुनौती देता हूं कि वे सीएए पर 10 पंक्ति और इसके विरोध में दो पंक्ति बोल कर दिखाएं. भारत के लिए दुर्भाग्य की बात है कि वर्षों पुरानी कांग्रेस पार्टी के नेता आज ऐसे कैसे हो गए जिसे ये भी नहीं मालूम कि सीएए क्या है? राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा समाज को भड़काने वाली बात तो करते हैं लेकिन विपक्ष द्वारा प्रायोजित हिंसा की निंदा तक नहीं करते.
जेपी नड्डा ने कहा कि भारत ने नेहरू-लियाकत समझौते का पालन किया लेकिन पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर भीषण अत्याचार हुए. 2 दिन पहले ही ननकाना साहिब पर पाक प्रायोजित हमले हुए, सिखों को आतंकित किया गया और आज फिर एक सिख भाई की पाकिस्तान में हत्या हुई. महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल से लेकर डॉ मनमोहन सिंह तक ने पाक-बांग्लादेश से आये अल्पसंख्यक विस्थापितों को भारत में बसाने की मांग की थी लेकिन वोट बैंक के लालच में कांग्रेस ने इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *