Sun. Feb 28th, 2021

विशेष प्रतिनिधि

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्रों ने जेएनयू हिंसा  के खिलाफ गुरुवार को मानव श्रृंखला बनाकर अपना विरोध दर्ज कराया। इस दौरान कई छात्रों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। इसे लेकर एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिसके बाद अलीगढ़ के थाना सिविल लाइन थाने में 50 से 60 अज्ञात छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जानकारी के अनुसार मास कॉम डिपार्टमेंट से सैयद गेट तक छात्रों ने मानव श्रृंखला बनाई थी। मामले में सीओ सिविल लाइन अनिल समानिया का कहना है कि 40 से 50 छात्रों के खिलाफ सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने का मुकदमा दर्ज किया गया है। जल्द ही छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
उधर इस विरोध प्रदर्शन के बीच प्रशासन के सामने सबसे बड़ी चुनौती अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यायल को खुलवाकर शैक्षणिक कार्यों को बहाल करना है। वहीं, प्रदर्शनकारी छात्र इस जिद पर अड़े हुए हैं कि जब तक केंद्र सरकार नागरिकता संशोधन कानून में बदलाव नहीं करती है, तब तक न केवल उनका विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा, बल्कि कक्षाओं को भी नहीं चलने दिया जाएगा। प्रदर्शनकारी छात्रों की इस जिद को देखते हुए यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कक्षाओं को दोबारा शुरू कराने के लिए एक नया प्‍लान तैयार किया है। उल्‍लेखनीय है कि नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय के छात्रों और पुलिस के बीच 15 दिसंबर को झड़प हो गई थी। इस झड़प के बाद यूनिवर्सिटी को 5 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया था। यूनिवर्सिटी प्रशासन को उम्‍मीद थी कि 5 जनवरी तक यूनिवर्सिटी में सब कुछ समान्‍य हो जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। यूनिवर्सिटी में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में अभी भी विरोध प्रदर्शन का दौर जारी है। जिसके चलते प्रशासन ने अब यूनिवर्सिटी की कक्षाओं को शुरू कराने के लिए नया प्‍लान तैयार किया है। जिसके तहत, अब यूनिवर्सिटी को चरणवद्ध तरीके से खोला जाएगा।
नए प्‍लान के तहत यूनिवर्सिटी प्रशासन सबसे पहले जूनियर स्‍कूल खोलने की तैयारी में है। यूनिवर्सिटी प्रशासन की तैयारी थी कि 9 जनवरी से कक्षा एक से लेकर आठ तक की कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी। हालांकि यह बात दीगर है कि ठंड को देखते हुए जिला प्रशासन ने सभी जूनियर स्‍कूल को 9 और 10 जनवरी को बंद करने के आदेश जारी कर दिए थे, जिसके चलते अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वव‍िद्यालय की जूनियर कक्षाओं को शुरू नहीं किया जा सका है। अब आशा जताई जा रही है कि अगले सप्‍ताह से जूनियर कक्षाओं की पढ़ाई को शुरू करा दिया जाएगा। जिसके बाद, चरणवद्ध तरीके से विश्‍वविद्यालय के दूसरे से सेक्‍शन को भी खोल दिया जाएगा। यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के लिए पहुंचने वाले छात्र-छात्राओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जिला प्रशासन ने कैंपस में भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती कर दी है। इसके अलावा, यूनिवर्सिटी कैंपस में रैपिड एक्‍शन फोर्स और पीएसी की भी तैनाती की गई है। प्रदर्शनकारी छात्रों को रोकने के लिए पुलिस ने कई जगह पर बैरी‍केडिंग की है। वहीं, उग्र होने वाले प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए वाटर कैनन भी तैनात किए गए हैं। प्रदर्शनकारी छात्रों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए खुफिया विभाग के लोगों को भी मौके पर तैनात किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *