Fri. Apr 23rd, 2021

विशेष प्रतिनिधि

यूपी। उत्तर प्रदेश के उन्नाव से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद साक्षी महाराज ने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में हुई हिंसा को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा कि जेएनयू की नींव में ही कुछ समस्या है। वहां कई आस्तीन के सांप हैं जिनका इलाज किया जाना जरूरी है।सांसद साक्षी महाराज ने कहा, ‘मेरा मानना ​​है कि जेएनयू की नींव में कुछ समस्या हो सकती है। मैं प्रधानमंत्री से निवेदन करना चाहता हूं कि जेएनयू जैसी घटनाएं नई नहीं है। इससे पहले जामिया विश्वविद्यालय में भी यही हो चुका है। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि दिल्ली विश्वविद्यालय और भारत के अन्य विश्वविद्यालयों के नियम-कानून इन विश्वविद्यालयों पर भी लागू होने चाहिए। यहां के छात्र ‘मुफ्त’ में रह रहे हैं और वे सभी राजनीति करते हैं। मेरा मानना है कि जेएनयू में कई ‘आस्तीन के सांप’ हैं जिनका इलाज किया जाना आवश्यक है। साक्षी महाराज ने कहा कि जब मैंने दीपिका पादुकोण को जेएनयू में देखा, तो मुझे लगा कि वह दुर्घटनावश से वहां गई हैं। मंच पर रहने के दौरान उन्हें लगा होगा कि उन्हें नुकसान हुआ। दीपिका पादुकोण की आत्मा तब रोई होगी जब वह कन्हैया कुमार के बगल में खड़ी थीं। बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि कांग्रेस दिन-प्रतिदिन बेवकूफ बन रही है। वह कुछ भी सोचने में असमर्थ है। कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है, इस कारण वे निजी जीवन को बीच में ला रहे हैं। वे विकास के बारे में बात नहीं कर सकते।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस धर्म के आधार पर फूट डालकर 70 साल तक शासन करती रही। अब जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धार्मिक मुद्दों को छोड़ कर विकास के मुद्दों के मामले में आगे बढ़े और ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के नारे को आगे बढ़ाया और लोग उनके साथ खड़े हो गए जिसे देखकर कांग्रेस चकित हो गई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से चकित है और पूरे देश में हिंसा फैला रही है। इस समय विपक्षी दल कुछ भी सोचने में असमर्थ हैं। सांसद साक्षी ने कहा कि कुछ अभिनेता ऐसे हैं जो टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य बनकर मोदी का विरोध कर रहे हैं। कोई भी मोदी को नुकसान नहीं पहुंचा सकता भले ही दुनिया उसके खिलाफ हो। यहां मामला सीएए का नहीं है। चाहे पूरी दुनिया भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ हो जाए फिर भी उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता। भारत में होने वाली सभी हिंसाओं के पीछे विपक्ष का हाथ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *