Thu. Apr 22nd, 2021

विशेष संवाददाता

कोलकाता। बांग्लादेश के उपविदेश मंत्री शहरयार आलम दिल्ली में 14 जनवरी से 16 जनवरी तक चलने वाले रायसीना डायलॉग 2020 का हिस्सा नहीं बनेंगे। राजनयिक सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है। सूत्रों के मुताबिक शहरयार आलम, प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ अबु धाबी के दौरे पर जा रहे हैं। हालांकि, अंतिम समय में दौरा कैंसिल करने के फैसले को नागरिकता संशोधन कानून (CAA)-राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) पर ढाका की नाखुशी से जोड़कर देखा जा रहा है।
बता दें, शहरयार आलम बांग्लादेश के तीसरे मंत्री हैं जिन्होंने भारत दौरा रद्द किया है। इससे पहले विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन और गृह मंत्री असदुज्जमान खान ने भी भारत का दौरा रद्द किया था। जब मोमेन ने भारत का दौरा रद्द किया तो कहा गया कि नागरिक संशोधन बिल को देश के विकास से जोड़ना अनुचित है। जाहिर है नागरिकता संशोधित कानून के मुताबिक वैसे गैर मुस्लिम रिफ्यूजी जो 31 दिसंबर 2014 से पहले बांग्लादेश, अफगानिस्तान और पाकिस्तान से भारत आ गए हैं उन्हें ही यहां की नागरिकता मिलेगी। रायसीना डायलॉग के पांचवें चरण में विदेश मंत्री एस जयशंकर, 12 देशों के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे। रायसीना डायलॉग में इस साल 103 देशों के 700 प्रतिनिधि शामिल होंगे। रायसीना डायलॉग के जरिए एशिया के एकीकरण और विश्व के साथ बेहतर संभावनाओं की तलाश करना है। रायसीना डायलॉग में वैश्विक समुदाय के सामने चुनौतीपूर्ण मुद्दों को रखा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *