Mon. Apr 12th, 2021

संवाददाता

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी संसदीय दल की बैठक में सांसद अनंत हेगड़े को संसदीय दल की बैठक में आने से मना कर दिया है। अनंत हेगड़े ने महात्मा गांधी को लेकर विवादित बयान दिया था। इससे पार्टी खासी नाराज है। बैठक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित कर सकते हैं। हेगड़े ने बेंगलुरू के एक कार्यक्रम में कथित तौर पर दावा किया कि आजादी की पूरी लड़ाई अंग्रेजों की सहमति एवं सहयोग से लड़ी गई थी और महात्मा गांधी के नेतृत्व वाला स्वतंत्रता आंदोलन एक ‘नाटक था। उन्होंने अपने संबोधन में कहा, पूरा स्वतंत्रता आंदोलन अंग्रेजों की सहमति और समर्थन से खेला गया एक बड़ा ड्रामा था।

सत्याग्रह और भूख हड़ताल भी ड्रामा था। यह वास्तविक लड़ाई नहीं, बल्कि तालमेल से किया स्वतंत्रता आंदोलन था। हेगड़े के बयान पर आपत्ति जताते हुए कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संसद में आने और अपनी स्थिति स्पष्ट करने की मांग की। थोराट ने कहा, भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े का बयान घोर निंदनीय है। यह भाजपा नेतृत्व के बौद्धिक दिवालियेपन को दिखाता है। उनके मातृ संगठन, आरएसएस ने अंग्रेजों के साथ मिलकर स्वतंत्रता संग्राम का विरोध किया था। उन्होंने कहा कि हेगड़े की टिप्पणी ने भाजपा का असली चेहरा दिखा दिया है जो नाथूराम गोडसे की अपने आदर्श के रूप में प्रशंसा करती है। राज्य के मंत्री और राकांपा के वरिष्ठ नेता जयंत पाटिल ने कहा कि हेगड़े ने अपनी टिप्पणी से स्वतंत्रता आंदोलन का अपमान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *