Fri. Apr 23rd, 2021

संवाददाता

नई दिल्ली । दिल्ली में विधानसभा चुनावों की सरगर्मी बढ़ती जा रही है। ऐसे में शाहीन बाग का नाम पूरे देश में चर्चा का प्रमुख विषय बन गया है। एक फरवरी को शाहीन बाग में एक नौजवान ने हवाई फायरिंग कर सनसनी फैला दी थी। वह नौजवान कौन था? दिल्ली पुलिस ने जो खुलासा किया है वह हैरान करने वाला है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक गोली चलाने वाला नौजवान आम आदमी पार्टी (आप) से जुड़ा था। इस खुलासे के बाद भाजपा और आप आमने-सामने आ गईं हैं। भाजपा ने कहा आप बेनकाब हो गई है। वहीं आप ने भाजपा पर साजिश करने का आरोप लगाया है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आप पर निशाना साधते हुए कहा कि आप के बड़े नेता ने कपिल गुर्जर को पार्टी में शामिल कराया। पात्रा ने कहा कि शाहीन बाग और हिंदुओं को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा गोलीबारी केजरीवाल की साजिश थी। भाजपा नेता ने ट्वीट कर कहा आप के बड़े नेता जिन्होंने 3 मई 2019 को कपिल गुज्जर की आप में जॉइनिंग की फोटो ट्वीट की थी।। क्या कारण था की शूटआउट से पहले यह ट्वीट डिलीट कर दिया गया? इससे साबित होता है की शाहीन बाग और हिंदुओं को बदनाम करने के लिए शूटआउट यह केजरीवाल की साजिश थी।  उधर, पुलिस के आरोप और तस्वीरें जारी करने से आप भड़क गई है।

आप सांसद संजय सिंह ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस भाजपा के इशारे पर काम कर रही है। जब चुनाव आचार संहिता लागू है, तो मामले की जांच करने वाले पुलिस अधिकारी एक राजनीतिक दल का नाम लेकर ऐसा कैसे कह सकते हैं। आम आदमी पार्टी ने भाजपा की साजिश बताते हुए डीसीपी क्राइम ब्रांच पर सवाल उठाए।  आप ने कहा वह डीसीपी को लीगल नोटिस भेजेगी और ये चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है, जिसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेंगे। उधर, आप ने यह भी कहा कि आरोपी का तस्वीरों में किसी के साथ होने से क्या साबित होता है? तस्वीरें तो दूसरे मामलों में भाजपा के नेताओं की भी किसी न किसी आरोपियों के साथ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *