Mon. Apr 12th, 2021
संवाददाता

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल  ने पार्टी के विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद सरकार बनाने का दावा पेश किया है. केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखकर सरकार बनाने का दावा पेश किया है. वह 16 फरवरी को शपथ लेंगे. वहीं उनके शपथ ग्रहण समारोह में अन्य दलों के नेताओं के शामिल होने पर सस्पेंस गहरा गया है.

सूत्रों के मुताबिक, रामलीला मैदान में रविवार को होने वाले अरविंद केजरीवाल  के शपथ ग्रहण समारोह में आम आदमी पार्टी (आप) संभवत: दूसरे दलों के वरिष्ठ नेताओं और मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित नहीं करेगी. सूत्रों ने बताया कि आप प्रमुख द्वारा अगली सरकार बनाने के लिए दावा पेश किया जाना औपचारिक प्रक्रिया है. केजरीवाल को बुधवार को पार्टी के विधायक दल का नेता चुना गया.

शपथ में अन्य दलों के नेता नहीं होंगे शामिल!
दिल्ली विधानसभा चुनाव में बेहतरीन जीत दर्ज करके केजरीवाल 16 फरवरी को लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं. सूत्रों ने बताया कि शपथग्रहण समारोह जनता के लिए खुला है, लेकिन आम आदमी पार्टी दूसरे दलों के नेताओं और मुख्यमंत्रियों को बुलाने पर विचार नहीं कर रही है, क्योंकि वह केन्द्र की भाजपा नीत सरकार के खिलाफ ‘टकराव वाली’ छवि नहीं बनाना चाहती. हालांकि, उन्होंने कहा कि पार्टी ने अभी तक अंतिम फैसला नहीं लिया है.

आप को मिली बंपर जीत
बता दें कि मंगलवार को आए दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को जबरदस्त जीत हासिल हुई है. दिल्ली की 70 सीटों में से उसने 62 पर अपना कब्जा जमाया है. वहीं बीजेपी को महज आठ सीटों पर ही जीत नसीब हुई. पिछली बार की तरह इस बार भी कांग्रेस का खाता नहीं खुला. आप को कुल पड़े वोटों का 53.6 प्रतिशत शेयर मिला जबकि बीजेपी को 38.5 फीसदी मत पड़े. कांग्रेस के हिस्से में महज 4.26 प्रतिशत वोट शेयर रहा.

इस बंपर मिली जीत के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों का शुक्रिया अदा किया और उन्हें सार्वजनिक तौर पर ‘आई लव यू’ कहा. यह लगातार तीसरी बार होगा जब आम आदमी पार्टी दिल्ली में सरकार बनाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *