Thu. Apr 22nd, 2021

संवाददाता

नई दिल्ली । जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्याल में 15 जनवरी को पुलिस द्वारा लाइब्रेरी में घुसकर छात्रों के साथ बर्बरता करने के मामले में अब चौथा वीडिया सामने आया है। इस वीडियो में पुलिसवाले दरवाजा के सामने जिस टेबल को लगाकर उसे बंद किया था, उसे हटाते दिख रहे हैं। साथ ही इसमें दर्जनों छात्र पुलिस से बचकर लाइब्रेरी निकलते दिख रहे हैं। दिल्ली पुलिस कुछ छात्रों को पीटती भी दिख रही है। इस वीडियो में पुलिस सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ती दिख रही है। यह वीडियो मखतूब मीडिया ने जारी किया गया है। इसे लेकर जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी का दावा है कि यह वीडियो उन्होंने जारी नहीं किया है और उनके पास इसकी रॉ फुटेज भी नहीं है।
– पूर्व उपराज्यपाल नजीब जंग ने क्या कहा

जामिया हिंसा से जुड़े वीडियो सामने आने के बाद दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल नजीब का कहना है कि दिल्ली पुलिस की तरफ इस पर कम से कम एक बयान तो आना ही चाहिए था। अगर किसी एक छात्र ने भी पत्थर लेकर लाइब्रेरी के अंदर प्रवेश किया तो वह भी निंदनीय है। इस पूरे घटना की विस्तार से जांच होनी चाहिए।रविवार को जारी हुए तीन नए वायरल वीडियो में उपद्रव करते दिखे छात्र जामिया की लाइब्रेरी में छात्रों पर पुलिस लाठीचार्ज का वीडियो वायरल होने के बाद तीन नए वीडियो वायरल हो गए हैं।

पुलिस की कार्रवाई से पहले के बताए जा रहे इन वीडियो में दावा किया गया है कि जामिया के छात्रों ने पहले उपद्रव मचाया और फिर जान बचाने के लिए कैंपस की लाइब्रेरी में जाकर बैठ गए। हालांकि वीडियो में दिख रहे युवकों की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस कार्रवाई का वीडियो वायरल होने के बाद से ही सोशल मीडिया पर हर तरफ पुलिस की आलोचना हो रही थी। शाम होते-होते स्थिति बदल गई। लाइब्रेरी का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें एक युवक हाथों मेें पत्थर लेकर भागता दिख रहा है। इसके बाद एक दूसरा वीडियो वायरल हुआ, जिसमें कुछ नकाबपोश लाइब्रेरी में आकर बैठते दिखे। इसके बाद भीतर बैठे छात्रों ने लाइब्रेरी के टेबल-कुर्सी को इस तरह लगाना शुरू कर दिया, जिससे मुख्य द्वार न खोला जा सके। एक अन्य वीडियो में कैंपस के बाहर कुछ युवक पुलिस पर पथराव कर कैंपस में भागते नजर आ रहे हैैैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *