Fri. Apr 23rd, 2021

संवाददाता

शिमला । वर्तमान प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिकल्पना को साकार करने के लिए वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लिए अनेक नवीन और महत्वाकांक्षी योजनाएं आरम्भ की हंै और इस लक्ष्य को हासिल करने में दुधारू पशुओं का पालन महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। यह बात मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मंडी जिले के बल्ह विधानसभा क्षेत्र के चक्कर में 16.31 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले मिल्कफेड के 50,000 लीटर क्षमता के दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र की आधारशिला रखने के बाद कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में मिल्कफेड के पास एक लाख लीटर दूध एकत्र करने की क्षमता है, जिसे बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि विकसित देशों में ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिकी का मुख्य आधार पशुपालन है और अच्छी नस्ल की गायों का पालन करने से किसानों की आय कई गुणा बढ़ सकती है। जय राम ठाकुर ने मिल्कफेड की विभिन्न गतिविधियों में विविधता लाने के लिए उनके प्रयासों की सराहना की, इससे न केवल राजस्व में वृद्धि सुनिश्चित होगी, बल्कि किसानों को और अधिक प्रभावी सेवाएं प्रदान करने में मदद भी मिलेगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार देसी नस्ल के मवेशियों को भी बढ़ावा दे रही है, ताकि किसानों को अधिक दूध देने वाली गायें मिल सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्राकृतिक खेती को भी बढ़ावा दे रही है ताकि लोगों को मवेशियों को पालने के लिए प्रेरित किया जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में गौ संरक्षण बोर्ड का गठन किया है, इसके अलावा राज्य के विभिन्न हिस्सों में कई गौ अभयारण्य खोले जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय मेडिकल काॅलेज नेरचैक, मंडी इस क्षेत्र के अग्रणी चिकित्सा महाविद्यालय के रूप में तेजी से उभर रहा है और राज्य सरकार इस स्वास्थ्य संस्थान को सुदृढ़ करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य में वर्तमान में सरकारी क्षेत्र में छह मेडिकल काॅलेज हैं और बिलासपुर जिला में एम्स का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में चिकित्सा विश्वविद्यालय के यथोचित कार्य को सुनिश्चित करने के लिए नेरचैक के पास भूमि चिन्हित की जा रही है। उन्होंने कहा कि जमीन मिलते ही यहां कार्य आरम्भ कर दिया जाएगा।

जय राम ठाकुर ने नेरचैक स्थित श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय में 45 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले टर्सरी कैंसर केयर सेंटर का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस सेंटर के बनने से क्षेत्र की 25 लाख से अधिक आबादी को स्वास्थ्य सुविधा मिलेगी। इस केंद्र में सिर व गर्दन, स्तन, गर्भाशय ग्रीवा, फेफड़ों और लिंफोमा आदि के कैंसर के इलाज के लिए लीनियर एक्सीलेटर, एचडीआर ब्रैकीथेरेपी और योजना सीटी-सिम्युलेटर जैसी नवीनतम मशीनरी और उपकरण स्थापित होंगे। उन्होंने कहा कि इस टर्सरी कैंसर केयर सेंटर में कीमोथेरेपी, रेडियोथेरेपी, आॅन्कोसर्जरी जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध होगी। मुख्यमंत्री ने मिल्कफेड की ओर से दुग्ध सहकारी समितियों को दो-दो हजार रुपये केृ चेक और आॅटोमेटिक दुग्ध संग्रह यूनिट भी भेंट किया।

मुख्यमंत्री ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मैरामसीत में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने और नेरचैक में फायर स्टेशन खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने लेदा में 1.75 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन का भी उद्घाटन किया। इसके पश्चात, मुख्यमंत्री ने शहर के नजदीक झमाड़ की बाग में 3.80 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित फायर स्टेशन भवन का उद्घाटन भी किया। ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र जिले के किसानों के लिए वरदान साबित होगा और इसके माध्यम से वर्ष 2022 तक किसानों को अपनी आय दोगुनी करने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने मुख्यमंत्री से किसानों की सुविधा के लिए दूध के मूल्य बढ़ाने का भी आग्रह किया। उन्होंने किसानों से अच्छी नस्ल की गायों को पालने का भी आग्रह किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ऐसे मवेशियों की खरीद के लिए उपदान दे रही है। विधायक बल्ह इंद्र सिंह गांधी ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए उनके समक्ष क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगें प्रस्तुत की। उन्होंने मुख्यमंत्री से बल्ह में विद्युत मंडल खोलने का भी आग्रह किया।

अध्यक्ष मिल्कफेड निहाल चंद शर्मा ने मुख्यमंत्री व अन्य गणमान्य लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि यह प्रोसेसिंग प्लांट क्षेत्र के किसानों की आर्थिकी को सुदृढ़ करने में मदद करेगा। उन्होंने हिमफेड की प्रभावी कार्यप्रणाली के लिए लगभग 100 से अधिक पद स्वीकृत करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को मिल्कफेड की ओर से 5 लाख रुपये का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए भेंट किया। जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर, सांसद रामस्वरूप शर्मा, विधायक कर्नल इंद्र सिंह, विनोद कुमार, राकेश जम्वाल, हीरा लाल, जवाहर ठाकुर व प्रकाश राणा, महासचिव बाल कल्याण परिषद पायल वैद्य, जिला परिषद अध्यक्षा सरला ठाकुर, मंडी जिला भाजपा अध्यक्ष रणवीर ठाकुर, कुलपति चिकित्सा विश्वविद्यालय डा. सुरेंद्र कश्यप, निदेशक मेडिकल एजुकेशन डाॅ. रवि शर्मा, प्रधानाचार्य चिकित्सा महाविद्यालय डा. रजनीश पठानिया, उपायुक्त मंडी रुग्वेद ठाकुर, एसपी मंडी गुरदेव शर्मा, प्रधान निजी सचिव मुख्यमंत्री विनय सिंह, प्रबंध निदेशक मिल्कफेड भूपेन्द्र कुमार अत्री सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *