Fri. Apr 23rd, 2021

संवाददाता

नई दिल्ली । दिल्ली हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने घर पर आपात बैठक बुलाई। बैठक में हिंसाग्रस्त इलाकों के विधायकों, प्रमुख सचिव, गृह सचिव समेत दूसरे बड़े अधिकारियों को बुलाया गया। बैठक में दिल्ली की ताजा स्थिति और इस पर प्रभावी नियंत्रण पर विस्तार से चर्चा की गई। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उपद्रव के बाद सोमवार देर रात आम आदमी पार्टी (आप) के करीब आधा दर्जन विधायक उपराज्यपाल के घर पर पहुंचे और हिंसा रोकने की मांग की। इस बैठक से पहले सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की। केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा दिल्ली के कुछ हिस्सों में हिंसा से हम चिंतित हैं।

शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए हम सबको मिलकर प्रयास करना होगा। हिंसाग्रस्त इलाकों के विधायकों और अधिकारियों के साथ मीटिंग कर रहा हूं। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार को जमकर हिंसा हुई। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सात जगहों पर पथराव और आगजनी हुई। जाफराबाद, मौजपुर, गोकलपुरी, यमुना विहार, भजनपुरा, घोंडा चौक समेत अलग-अलग इलाकों में हिंसा की तस्वीरें देखने को मिलीं। दिल्ली हिंसा में अबतक 5 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें हेड कॉन्सटेबल रतनलाल भी शामिल हैं।

बाकी 4 आम लोग हैं। आम आदमी पार्टी (आप) के आधा दर्जन विधायक सोमवार दिन में हिंसा के बाद रात को उपराज्यपाल अनिल बैजल के घर पहुंचे थे। मंत्री गोपाल राय, मंत्री इमरान हुसैन, विधायक दिलीप पांडेय, संजीव झा, अखिलेशपति त्रिपाठी और अमानतुल्लाह खान पहुंचे थे, लेकिन उपराज्यपाल ने उनसे मुलाकात नहीं की। हालांकि, राज्यपाल के प्रतिनिधि के तौर पर स्पेशल कमिश्नर राजेश खुराना ने विधायकों से मुलाकात की और कार्रवाई का भरोसा दिया। इसके बाद मंत्री गोपाल राय ने बताया कि उप राज्यपाल के प्रतिनिधि स्पेशल कमिश्नर राजेश खुराना ने जनता की सुरक्षा का आश्वासन दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *