Sat. Feb 27th, 2021

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया ने सीमा पार आतंकवाद की को लेकर पाकिस्तान की ओर परोक्ष इशारा करते हुए कड़ी निंदा की और सभी आतंकी नेटवर्क के खिलाफ ठोस कार्रवाई की मांग की। आतंकवाद से मुकाबले के लिए भारत-ऑस्ट्रेलिया के संयुक्त कार्य समूह की वर्चुअल बैठक के दौरान यह मामला प्रमुखता से उठा। बैठक के बाद जारी एक संयुक्त वक्तव्य में कहा गया है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया ने आतंकवाद के सभी रूपों की आलोचना की है। इसके अलावा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के लिए अंतरराष्ट्रीय समर्थन की आवश्यकता की बात की है। बयान में कहा गया है कि दोनों पक्षों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष स्कॉट मॉरिसन द्वारा स्थापित व्यापक रणनीतिक साझेदारी के साथ आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए समन्वय और सहयोग की अपनी प्रतिबद्धता को रेखांकित किया।
भारत और ब्रिटेन ने परमाणु अप्रसार, परंपरागत हथियार, बाहरी अंतरिक्ष की सुरक्षा और निर्यात नियंत्रण व्यवस्था से जुड़े विषयों पर विचार साझा किए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक बयान में कहा कि यह चर्चा निरस्त्रीकरण और परमाणु अप्रसार पर भारत-ब्रिटेन द्विपक्षीय वार्ता के ढांचे के तहत हुई। दोनों देशों ने परमाणु, रासायनिक, जैविक निरस्त्रीकरण और परमाणु अप्रसार, परंपरागत हथियार, बाहरी अंतरिक्ष की सुरक्षा और निर्यात नियंत्रण व्यवस्था के क्षेत्र में आपसी हितों के व्यापक समकालीन मुद्दों पर विचार साझा किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *