Tue. Mar 9th, 2021

नई दिल्ली। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दिल्ली में सुबह शहर के कुछ हिस्सों में कोहरा छाने के साथ ही न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। आईएमडी के अधिकारी ने बताया कि ‘‘मध्यम’’ कोहरा छाने से सफदरजंग में दृश्यता 201 मीटर और पालम में 350 मीटर दर्ज की गई। आईएमडी के अनुसार शून्य से 50 मीटर के बीच दृश्यता होने पर कोहरा ‘बेहद घना’, 50 से 200 मीटर के बीच ‘घना’,201 से 500 के मीटर के बीच ‘मध्यम’ और 501 से 1000 के बीच दृश्यता होने पर कोहरे को ‘हल्का’ माना जाता है।
आईएमडी के अनुसार सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान सामान्य से चार डिग्री कम चार डिग्री सेल्सयस दर्ज किया गया। वहीं लोधी रोड मौसम केन्द्र में न्यूनतम तापमान 3.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पश्चिमी विक्षोभ के हिमालय के ऊंचाई वाले इलाकों को प्रभावित करने के कारण सोमवार और मंगलवार को न्यूनतम तापमान मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई थी। आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, पश्चिमी विक्षोभ लौट चुका है। इसकारण तापमान में फिर गिरावट दर्ज की जा रही है। पश्चिमी विक्षोभ से जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले इलाकों में हल्के से मध्यम स्तर की बर्फबारी हुई थी। वहीं एक और पश्चिमी विक्षोभ 26 दिसम्बर से हिमालय के ऊंचाई वाले इलाकों को प्रभावित कर सकता है। दिल्ली में अगले तीन दिनों तक शीतलहर चलने का भी पूर्वानुमान है। तापमान के शुक्रवार को तीन डिग्री सेल्सियस पर पहुंचने का भी अनुमान है। उसने कहा कि इस दौरान ‘‘ मध्यम से घना ’’ कोहरा छाने की संभावना है।
मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों के अनुसार धीमी हवा की गति और कम प्रदूषकों का संचीयकरण हो रहा है, जिससे दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘‘खराब’’ श्रेणी में दर्ज की गई। श्रीवास्तव ने कहा कि 26 दिसम्बर तक इसमें कोई बड़ा सुधार होने की संभावना नहीं है। शहर का सुबह नौ बजे तक को औसतन वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 365 दर्ज किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *