Sat. Feb 27th, 2021

नई दिल्ली । ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्वरूप को लेकर दुनिया में सनसनी फैली है ऐसे में दक्षिण कोरिया में सोमवार से कोरोना वायरस के बचाव के लिए वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है। इस बीच यहां पर लंदन से लौटे तीन नागरिकों में नए ब्रिटिश कोरोना वायरस वैरिएंट की पुष्टि हुई है। ब्रिटेन में उपजे नए कोरोना वायरस स्ट्रेन को विशेषज्ञों ने अधिक संक्रामक और घातक बताया है। कोरिया डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन एजेंसी (केडीसीए) ने बताया कि 22 दिसंबर को लंदन से तीन नागरिक दक्षिण कोरिया आए हैं, उनमें नए कोरोना वायरस वेरिएंट की पुष्टि हुई है। कोरिया डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन एजेंसी (केडीसीए) ने रविवार रात तक 808 नए केस की पुष्टि की है। नए कोरोना केस के मामले में यह अब तक का सबसे कम आंकड़ा है। इससे पहले शुक्रवार को 1,241 कोरोना के मामले सामने आए थे।
अथॉरिटी के मुताबिक कोरोना मामलों में यह गिरावट कम टेस्टिंग की वजह से हो सकती है। क्योंकि वीकेंड और क्रिसमस की वजह से छुट्टी भी थी। फिलहाल सभी लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क आदि को लेकर सभी जरूरी एहतियात बरतने को कहा गया है। दक्षिण कोरिया में बीते 15 दिन में संक्रमण के 15,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। इस अवधि में 221 लोगों की मौत हुई है, इसके साथ कोविड-19 के कारण मरने वालों की कुल संख्या 793 हो गई है। इससे पहले ऐसा लग रहा था कि दक्षिण कोरिया कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई जीत रहा है लेकिन क्रिसमस वाले हफ्ते में अचानक मामले तेजी से बढ़ गए। कोविड-19 के उपचार के लिए अधिक संस्थानों को निर्दिष्ट किया गया है तथा कई दर्जन सामान्य अस्पतालों को वायरस के मरीजों के लिए और आईसीयू बेड आवंटित करने का आदेश दिया गया है। एजेंसी ने बताया कि 16,577 मरीजों का उपचार चल रहा है जिनमें से 299 की हालत गंभीर है। कोरिया यूनिवर्सिटी अनसान अस्पताल में संक्रामक रोगों के विशेषज्ञ चो वुन सुक ने कहा कि सरकार को सर्दियों में वायरस के मामले बढ़ने के मद्देनजर और तैयारियां करनी होंगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *